स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

साहब! टीआई मांगते है रिश्वत, करते अभद्रता

Anil Kumar

Publish: Nov 07, 2019 12:32 PM | Updated: Nov 07, 2019 12:32 PM

Sehore

पार्षद, नागरिकों ने एसपी को की शिकायत

सीहोर.
नसरूल्लागंज थाना टीआई पंकज दीवान पर रिश्वत मांगने और अभद्रता करने का आरोप लगाते हुए स्थानीय पार्षद और लोगों ने एसपी एसएस चौहान को ज्ञापन देकर शिकायत की है। इसमें जांच कर टीआई को सस्पेंड करने की मांग की गई है।

[MORE_ADVERTISE1]

शिकायत में आरोप लगाते हुए बताया कि वह सभी नसरूल्लागंज नाके पर थे। इसी दौरान एक व्यक्ति ने आकर कहा कि गरीब ट्रक चालक से पुलिस वाले डरा धमकाकर 25 हजार रुपए की मांग कर रहे हैं। जब मौके पर गए तो वह टीआई थे। आरोप है कि टीआई के पास 500-500 रुपए के नोट हुए थे, जिसका विरोध किया तो टीआई ने अभद्रता की। वहीं वार्ड क्रमांक एक के पार्षद कैलाश धावरे के साथ अपशब्द का प्रयोग कर झूठे प्रकरण में फंसाने की धमकी दी। यह मामला देख वार्डवासी आएं तो टीआई 500 रुपए की रसीद देकर चले गए। शिकायत में आरोप लगाया कि टीआई अवैध वसूली कर रहे हैं। जिसका पिछले दिनों ऑडियो वाइरल होने के बाद लाइन अटैच किया था। इसकी जांच कर टीआई को सस्पेंड करने की कार्रवाई की जाएं। ऐसा नहीं हुआ तो आंदोलन करने मजबूर होना पड़ेगा। शिकायत दर्ज कराने वालों में पार्षद कैलाश धावरे, विमलेश जाट, हरिओम, रमेश मालवीय, शैतानसिंह आदि हैं। इस संबंध में टीआई पंकज दीवान का कहना है कि इस समय त्योहार का सीजन चल रहा है। इसमें सड़क पर वाहन खड़ा होने से जाम लग रहा है। जिस ट्रक की बात हो रही है वह बीच चौराहे पर आधी सड़क पर खड़ा था। जिससे जाम लग रहा था इसके चलते 500 रुपए का चालान बनाया गया। जो आरोप लगाए जा रहे हैं वह निराधार है।

[MORE_ADVERTISE2]

हाथ, गले की युवक ने काटी नश अस्पताल में भर्ती
रेहटी. नगर में एक युवक ने हाथ और गले की नश काटकर खुद को खून से लथपथ कर लिया। जिसे इलाज के लिए अस्पताल लाया गया, लेकिन हालत गंभीर होने से भोपाल रेफर कर दिया है। पुलिस के अनुसार रेहटी निवासी दिलीपसिंह नाम का व्यक्ति अपने बच्चों और पत्नी से अलग रहता था। मंगलवार को उसने अज्ञात कारणों के चलते दोनों हाथ, गले और एक पैर की नश काटकर आत्महत्या का प्रयास किया। जिसे इलाज के लिए अस्पताल लाया गया, जहां डॉक्टर ने जांच के बाद भोपाल रेफर कर दिया। पुलिस मामले की जांच पड़ताल में जुटी है। फिलहाल युवक ने ऐसा क्यों किया उसका वास्तविक कारण सामने नहीं आया है।

[MORE_ADVERTISE3]