स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

road accident news : कबीर भजन गायक प्रहलाद टिपाणिया सड़क हादसे में हुए घायल

Amit Mishra

Publish: Jul 18, 2019 19:10 PM | Updated: Jul 18, 2019 19:10 PM

Sehore

तीन गंभीर घायलों को प्राथमिक इलाज के बाद देवास किया रेफर

सीहोर @कुलदीप सरास्वत की रिपोर्ट...
आष्टा। भोपाल इंदौर हाइवे पर कबीर भजन गायक और लोकसभा चुनाव में देवास शाजापुर कांग्रेस के प्रत्याशी रहे प्रहलाद सिंह टिपाणिया prahlad singh tripaniya का वाहन गाय को बचाने के चक्कर में पलट गया। जिससे कार में car accident सवार टिपणिया सहित चार लोग घायल हो गए। प्रहलाद सिंह टिपाणिया समेत सभी घायलों को इलाज के लिए सिविल अस्पताल आष्टा लाया गया। इसमें तीन की हालत गंभीर injured होने पर प्राथमिक इलाज के बाद देवास रेफर किया है।

 

जानकारी के अनुसार भजन गायक टिपाणिया कार से तीन अन्य लोगों के साथ देवास से आष्टा तरफ आ रहे थे। बताया जा रहा है कि हाइवे पर आष्टा खड़ी जोड़ के पास उनके वाहन के सामने अचानक गाय आ गई। जिसे बचाने के चक्कर में चालक का संतुलन बिगड़ा और कार पलट गई। इससे टिपाणिया को हल्की चोंट आई है।

जबकि देवास के बालगड़ निवासी जगदीश (40), अखिलेश (25) पिता तुलसीराम, योगेंद्र (40) पिता बंशीलाल पटेल गंभीर घायल हो गए। जिनको इलाज के लिए सिविल अस्पताल लाया गया। यहां से प्राथमिक इलाज के बाद जगदीश, अलिखेश और योगेंद्र को देवास रेफर कर दिया है। शुरूआती जानकारी में एक की मौत होने की बात सामने आ रही है, लेकिन इसका क्लीयर नहीं हो सका है।


एयर बेग नहीं खुलता तो हो जाता बड़ा हादसा
घटना के समय कार पलटते ही एयर बैग खुल गया, जिससे एक बड़ा हादसा होते हुए टल गया। उल्लेखनीय है कि तेज रफ्तार के कारण भी आएं दिन फोरलेन सड़क पर दुर्घटनाएं हो रही है।

 


विज्ञान के शिक्षक भी रह चके हैं प्रहलाद सिंह टिपानिया
प्रहलाद टिपानिया ने कबीर के भजनों को गाने की शुरुआत लूणियाखेड़ी गांव (मध्य प्रदेश के देवास में) से ही की. प्रहलाद टिपानिया पेशे से गायक होने के अलावा विज्ञान के शिक्षक भी हैं। कबीर के भजनों के लिए जाने जाने-वाले प्रहलाद टिपानिया अमरीका समेत विदेशों में भी शो करते हैं। विदेशों में प्रहलाद टिपानिया के गायन पर मोहित होने वालों की हद यहां तक है कि हार्वर्ड यूनिवर्सिटी की एक प्रोफेसर सारा भारत आकर उनकी शिष्य बनीं। साथ ही अपना नाम बदलकर अंबा सारा रखा। वे कबीर के भजनों का अंग्रेजी में अनुवाद कर रही हैं।

मिल चुका है पद्मश्री

अंतरराष्ट्रीय कबीर भजन गायक प्रहलाद टिपानिया को 2011 में सरकार ने उन्हें पद्मश्री से नवाजा था। राजनीति से उनका ज्यादा निकट का नाता नहीं है। हालांकि उनके पिता कांग्रेस से जुड़े रहे हैं। उनके एक भाई जनपद में प्रतिनिधि रह चुके हैं। उनका बेटा विजय कांग्रेस आईटी सेल का तराना ब्लॉक का अध्यक्ष रह चुका है।