स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

पुलिस बनकर बाइक चालक को लूटने वाला आरोपी गिरफ्तार

Veerendra Shilpi

Publish: Nov 09, 2019 11:43 AM | Updated: Nov 09, 2019 11:43 AM

Sehore

दो नवंबर को पार्वती थाना क्षेत्र में हाइवे पर दिया था लूट की वारदात को अंजाम

सीहोर. इंदौर-भोपाल स्टेट हाइवे पर पगारिया घाटी के पास पुलिस बनकर भोपाल के एक युवक से मोबाइल और नगदी लूटने वाले युवक को पुलिस ने दबोच लिया है। आरोपी से पुलिस ने दो मोबाइल, बाइक और डेढ़ हजार रुपए नगदी जब्त की है। आरोपी युवक को पुलिस ने को न्यायालय से एक दिन की रिमांड पर लिया है। पुलिस आरोपी से अभी पूछताछ कर रही है।

पार्वती थाना पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार दो नवंबर को फरियादी संतोष पुत्र हुकमसिंह नायक उम्र 20 साल निवासी भौरा बकानिया भोपाल ने शिकायत दर्ज कराई कि वह अपने मोसेरे भाई राजेश सिंह के साथ बाइक पर सवार होकर देवास से भोपाल जा रहे थे, तभी दोपहर करीब तीन बजे पगारिया घाटी पर दरबार ढाबे के सामने आरोपी टीपू सुल्तान उर्फ सलमान पिता शहजाद खां उम्र 36 साल निवासी सोनकच्छ जिला देवास आया और बाइक रोककर दस्तावेज पूछने लगा।

पीडि़त ने बताया कि जैसे ही दस्तावेज दिखाने के लिए पर्स निकाला आरोपी ने पर्स छींन लिया और अपने साथ बाइक पर बिठाकर थाने की तरफ चल दिया। थोड़ी दूर जाकर आरोपी ने पीडि़त की गर्दन पर चाकू रखा और मारपीट कर पर्स, मोबाइल लेकर फरार हो गया।

पुलिस ने पीडि़त की शिकायत पर मामला दर्ज कर जांच शुरू की, तभी सुराग मिला कि आरोपी युवक हाइवे पर घूम रहा है, पुलिस ने दबिश दी और आरोपी को दबोच लिया। पुलिस की पूछताछ में आरोपी ने वारदात को अंजाम देने के बाद स्वीकार कर ली है। पुलिस ने आरोपी को दूसरे प्रकरणों के बारे में पूछताछ करने के लिए एक दिन की रिमांड पर लिया है।

[MORE_ADVERTISE1]

मुरम खदान को लेकर हुआ विवाद

थाने के अमरोद गांव में मुरम खदान की तार फैसिंग को तोडऩे की बात पर विवाद हो गया, जिसे लेकर खदान मालिक पर प्राण घातक हमला किया गया है। पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू की है। जानकारी के अनुसार ग्राम अमरोद निवासी गजराज पिता चांद सिंह मेवाडा उम्र 50 साल ने एक मुरम खदान लीज पर ली थी, जिसकी फैसिंग गांव के ही आरोपी भैरो सिंह ने तोड़ दी।

खदान मालिक गजरात सिंह ने भैरो सिंह के खिलाफ तहसीलदार से लिखित में शिकायत की, इस बात से नाराज होकर भैरो सिंह ने अपने परिजन मानसिंह पिता हनुमत सिंह, देवी सिंह पिता सोदान सिंह, राजकुमार पिता मान सिंह, होतम सिंह पिता अनार सिंह, शेर सिंह पिता अनार सिंह, रघुवीर सिंह पिता रामसिंह, अजय सिंह पिता रामसिंह, फूल सिंह पिता हनुमत सिंह, वीरेन्द्र पिता फूल सिंह और सोनू पिता भैरो सिंह ने एक राय होकर तलवार और डंड़ों से हमला कर दिया। पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ हत्या के प्रयास का मामला दर्ज।

[MORE_ADVERTISE2]