स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

मौसम के बदले मिजाज, गुलाबी सर्दी का होने लगा अहसास

Kuldeep Saraswat

Publish: Oct 14, 2019 13:10 PM | Updated: Oct 14, 2019 13:10 PM

Sehore

रविवार को 21.5 डिग्री से गिरकर 16.0 डिग्री सेल्सियस रेकॉर्ड किया गया रात का पारा

सीहोर. मानसून की विदाई के बाद मौसम साफ हो गया है। हवाओं में नमी ज्यादा होने के कारण सुबह के समय गुलाबी सर्दी का एहसास होने लगा है। रात का पारा भी गिरने लगा है। रविवार को शहर का अधिकतम तापमान 31.5 डिग्री और न्यूनतम तापमान 16.5 डिग्री सेल्सियस रेकॉर्ड किया गया है। पारे में उतार-चढ़ाब लगातार बना हुआ है।

सुबह के समय गुलाबी सर्दी और दिन में तेज धूप होने के कारण मौसमी बीमारियां जोर पकड़ रही हैं। जिला अस्पताल में इस समय ओपीडी एक हजार के आसपास रेकॉर्ड की जा रही है। सबसे ज्यादा मरीज सर्दी, जुकाम, खांसी और वायरल फीवर के पहुंच रहे हैं। डॉक्टर सुरक्षा की दृष्टि से मरीजों को गर्म पानी पीने और शरीर के तापमान को मेंटेन करने की सलाह दे रहे हैं।

रात के पारे में पांच डिग्री की गिरावट
आरएके कृषि महाविद्यालय के मौसम विशेषज्ञ डॉ. एसएस तोमर ने बताया कि रविवार को शहर के न्यूनतम तापमान में पांच डिग्री की गिरावट हुई है। शनिवार को अधिक का अधिकतम तापमान 31.5 और न्यूनतम तापमान 21.5 डिग्री सेल्सियस रेकॉर्ड किया गया है। रविवार को अधिकतम तापमान तो स्थिर रहा है, लेकिन न्यूनतम तापमान पांच डिग्री की गिरावट के बाद 16.0 डिग्री सेल्सियस रेकॉर्ड किया गया है।


दमा पीडि़त और बच्चों की केयर पर फोकस
जिला अस्पताल के सिविल सर्जन डॉ. आनंद शर्मा ने बताया कि मौसम का शरीर पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ रहा है। मौसमी बीमारियों से बचने के लिए गर्म पानी का सेवन करें। खान-पान पर विशेष ध्यान दिया जाए। दमा पीडि़त और नवजात शिशुओं के लिए यह मौसम ठीक नहीं है। सुबह के समय बच्चों को सर्दी से बचाने के लिए गर्म कपड़े पहना सकते हैं।