स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

जानिए कैसे, दो विभागों के झमेले में उलझा निर्माण तो थम गएं जनता के पैर, वाहनों के पहिए

Anil Kumar

Publish: Nov 14, 2019 12:34 PM | Updated: Nov 14, 2019 12:34 PM

Sehore

नागरिकों के सामने खड़ी हुई परेशानी

आष्टा से अशोक शर्मा की रिपोट...

पार्वती पुल से इंदौर नाके तक एमपीआरडीसी द्वारा बनाएं जा रहे आरसीसी रोड का काम पीडब्ल्यूडी ने परमिशन नहीं होने की बात कहकर बंद करा दिया है। इससे 500 मीटर के करीब सिंगल साइड रोड बनने और दूसरी तरफ का काम नहीं होने से हर पल जाम के हालात बन रहे हैं। जिससे आवाजाही करने वाले लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

[MORE_ADVERTISE1]

पुराने भोपाल इंदौर हाइवे पर पार्वती पुल से इंदौर नाके के बीच आरसीसी रोड बनाने एमपीआरडीसी ने कार्य शुरू किया था। यह रोड 500 मीटर के करीब बनने के बाद परमिशन के चक्कर में अटक गया है। पीडब्ल्यूडी अधिकारियों की माने तो जिस सड़क पर एमपीआरडीसी रोड बना रही है वह पीडब्ल्यूडी के अधीन है। ऐसे में बिना परमिशन के काम कराना संभव नहीं है। यह काम जब तक नहीं कराने दिया जाएगा, तब तक की निर्माण एजेंसी परमिशन नहीं लेती है।

[MORE_ADVERTISE2]

सिंगल साइड से हो रही आवाजाही
पांच दिन पहले शुरू किए रोड के काम में एमपीआरडीसी ने रेस्ट हाउस से थोड़ आगे तक ही सिंगल साइड रोड बनाई है। उससे भी आवाजाही बंद है। ऐसे में लोगों को दूसरी तरफ की सिंगल सड़क से ही आना जाना पड़ रहा है। जिससे दो बड़े वाहन आमने सामने आ जाएं तो जाम के हालात बन जाते हैं। यह जाम कई बार तो बड़ा रूप लेता है। इस समस्या से बचने लोगों को इधर-उधर रास्ता तलाश कर उससे निकलना पड़ रहा है। जिससे उनको परेशानी उठाने के साथ समय बर्बाद करना पड़ रहा है। इसके बाद भी इस तरफ ध्यान नहीं दिया जा रहा है।

[MORE_ADVERTISE3]

50 हजार से अधिक की होती है आवाजाही
इस मार्ग से प्रतिदिन करीब 50 हजार से अधिक लोगों की आवाजाही होती है। वहीं भोपाल-इंदौर बायपास से जुडऩे का यही मार्ग प्रमुख है। ऐसे में यह हालात होने से लोगों की दिक्कत हर दिन बढ़ती जा रही है। नागरिकों का कहना है कि दो विभागों के चक्कर में रोड उलझने का खामियाजा उनको भुग़तना पड़ रहा है। जल्द ही इस दिशा में ध्यान नहीं दिया तो बड़ा कदम उठाना पड़ेगा।