स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

उद्योगपतियों की राह देख रहा तीन सौ एकड़ में डेवलप औद्योगिक क्षेत्र

Kuldeep Saraswat

Publish: Oct 19, 2019 12:12 PM | Updated: Oct 19, 2019 12:12 PM

Sehore

मैग्नीफिसेंट एमपी से सीहोर को बहुत उम्मीद, यहां है उद्योग के लिए मजबूत इंफ्रास्ट्रक्चर

सीहोर. इंदौर-भोपाल दो महानगर के बीच स्थित सीहोर जिले के बडिय़ाखेड़ी में तीन सौ एकड़ जमीन पर डेवलप औद्योगिक क्षेत्र का काम अंतिम चरण में है। औद्योगिक क्षेत्र की जमीन कुछ उद्योगपतियों को आवंटित भी हो गई है, लेकिन यहां पर अभी तक एक भी उद्योगपति ने काम शुरू नहीं किया है। औद्योगिक क्षेत्र बीते डेढ़ साल से निवेशकों की राह देख रहा है। ऐसे में शुक्रवार से इंदौर में आयोजित मैग्नीफिसेंट एमपी से बड़ी उम्मीद जगी है। सीहोर के युवाओं की इच्छा है कि यहां भी कोई उद्योगपति बड़ा निवेश करें, जिससे रोजगार के अवसर पैदा हो सकें।

जिला मुख्यालय पर इंदौर-भोपाल स्टेट हाइवे के नजदीक 100 करोड़ रुपए की लागत से डेवलप औद्योगिक क्षेत्र सर्वसुविधा युक्त है। दो महानगर के बीच स्थिति होने के कारण सीहोर जिले में इंफ्रास्ट्रक्चर की कोई दिक्कत नहीं है, यहां पर विकास के अपार संभावनाएं हैं। सीहोर में आईटीसी और आसाम सांई ट्रैक्टर्स को उद्योग लगाने के लिए जमीन आवंटित की जा चुकी है, उम्मीद है ये जल्द ही काम शुरू करेंगे।

औद्योगिक क्षेत्र में जमीन का आवंटन शुरू
औद्योगिक क्षेत्र बडिय़ाखेड़ी अधोसंरचना प्रोजेक्ट का निर्माण जुलाई 2017 में प्रारंभ हुआ था। यह काम 22 जनवरी 2019 तक पूरा होना था, लेकिन प्रोजेक्ट बड़ा होने के कारण समय पर काम पूरा नहीं हो सका। अभी यहां पर करीब 10 प्रतिशत काम शेष है। सरकार ने यहां पर फैक्ट्री, कारखाना लगाने के इच्छुक व्यक्तियों को जमीन आवंटित करना शुरू कर दिया है। 60 एकड़ जमीन आईटीसी और 20 एकड़ आसाम सांई ट्रैक्टर्स को दी जा चुकी है।


इंदौर-भोपाल के लिए पलायन कर रहे युवा
सीहोर के बडिय़ाखेड़ी में डेवलप औद्योगिक क्षेत्र में निवेशक उद्योग लगाकर चालू करते हैं तो सीहोर के कारण 10 हजार युवाओं को रोजगार मिलने की उम्मीद है। प्रदेश सरकार ने भी इस बात की घोषणा कर दी है कि उद्योग कारखानों में ज्यादा से ज्यादा स्थानीय युवाओं को रोजगार किया जाए। सीहोर बडिय़ाखेड़ी स्थित औद्योगिक क्षेत्र में करीब 127 छोटे-बड़े उद्योग लगना है। सीहोर के यह युवा रोजगार की तलाश में अभी इंदौर और भोपाल की तरफ रूख कर रहे हैं।


फैक्ट-फाइल
प्रोजेक्ट की लागत : 66.41 करोड़ रुपए
एरिया : 300 एकड़
प्लाट संख्या : 127
निर्माण एजेंसी : मे. शेपर्स कंस्ट्रक्शन लिमिटेड
निर्माण कार्य प्रारंभ : जुलाई 2017
डेडलाइन : 22 जनवरी 2019


कौन क्या कहता है....
- सीहोर में जमीन का बहुत बड़ा रकवा खाली होने वाला है। इस पर हम बड़े उद्योग लाने का प्रयास करेंगे। इंदौर में आयोजित मैग्नीफिसेंट से सीहोर को अवश्य लाभ मिलेगा।
आरिफ अकील, प्रभारी मंत्री सीहोर


- इंदौर-भोपाल स्टेट हाइवे के मध्य स्थित होने के कारण सीहोर के विकास की बहुत संभावनाएं हैं। सरकार को सीहोर के विकास को गति देने के लिए बड़े उद्योगपतियों को यहां पर लाना चाहिए। यहां पर औद्योगिक विकास की बहुत जरूरत है।
सुदेश राय, विधायक सीहोर


- सीहोर में एग्रो और फूड प्रोसिंसिंग के क्षेत्र में काफी आउटपुट मिल सकता है। इसे लेकर आईटीसी के अफसरों से बात भी हुई है। मैग्नीफिसेंट एमपी से हमें बहुत उम्मीद हैं, निश्चित ही सीहोर को इसका लाभ मिलेगा।
अजय गुप्ता, कलेक्टर सीहोर