स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

शक्ति के आगे कैसे बेबस हुआ शराबी पति, हाथ छोड़कर बोला अब कभी नहीं करूं गा गलती...

Anil Kumar

Publish: Oct 21, 2019 15:15 PM | Updated: Oct 21, 2019 15:15 PM

Sehore

प्रताडऩा से पत्नी ने छोड़ा था घर, समझौता हुआ तो वापस लौटी

सीहोर.
परिवार परामर्श केंद्र में इस बार एक अजीबों गरीब मामला देखने को मिला। जब एक शराबी पति पत्नी को वापस घर ले जाने समिति के समक्ष गिड़गिड़ता हुआ नजर आया। पति पत्नी से हाथ जोड़कर कह रहा था कि आज के बाद वह कभी परेशान नहीं करेगा। उसकी बातों को सुनकर पत्नी का दिल पसीजा और समझौता होते ही वह पति के साथ लौट गई।

सीहोर निवासी कल्पना (परिवर्तित नाम) का विवाह उज्जैन निवासी सुमित कुमार (परिवर्तित नाम) से हुआ था। शादी के कुछ दिन तो दोनों अच्छे से रहे, लेकिन बाद में सुमित शराब के नशे में कल्पना को प्रताडि़त कर परेशान करने लगा। उसकी प्रताडऩा इतनी बढ़ गई कि कल्पना घर छोड़कर डेढ़ साल से मायके में रह रही थी। समिति के समक्ष दोनों ही उपस्थित हुए तो उनको कई महत्वपूर्ण बात बताई। वहीं पति ने भी अपनी गलती स्वीकार करते हुए दोबारा इस तरह का नहीं करने की बात कहीं। इसके चलते उनके बीच समझौता हो गया।

सास, ससुर मांगते थे रुपए
ब्रम्हपुरी सीहोर निवासी कल्पेश (परिवर्तित नाम) का विवाह आनंदनगर भोपाल निवासी रूपम (परिवर्तित नाम) के साथ हुआ था। शादी के बाद से ही कल्पेश और उसका पिता रूपम को आएं दिन रुपए की मांग करते हुए मारपीट कर प्रताडि़त करते थे। इस कारण वह अपने बच्चे के साथ डेढ़ महीने से मायके में रह रही थी। जिनके बीच समझौता हुआ तो रूपम वापस कल्पेश के साथ लौट गई। इसी तरह से एक अन्य प्रकरण में भी समझौता हुआ है। समिति सदस्य इंलियास अंसारी ने बताया कि 14 प्रकरण रखे थे। जिसमें 3 में समझौता हुआ है, जबकि दो प्रकरण बंद किए गए हैं।