स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

Salkanpur fair : सलकनपुर देवी मेला में गैस से चलने वाले वाहनों को नहीं मिलेगी एंट्री

Kuldeep Saraswat

Publish: Sep 15, 2019 11:41 AM | Updated: Sep 15, 2019 11:41 AM

Sehore

जिला प्रशासन ने सुरक्षा की दृष्टि से लिया निर्णय, कलेक्टर और एसपी ने की तैयारियों को लेकर बैठक

सीहोर. नवरात्रि महोत्सव के दौरान सलकनपुर देवी मंदिर पर 29 सितंबर से 9 दिवसीय मेला का आयोजन किया जाएगा। मेला की तैयारियों को लेकर शनिवार को जिला प्रशासन ने सलकनपुर देवी धाम का निरीक्षण किया और व्यवस्थाओं को लेकर बैठक की। सुरक्षा की दृष्टि से बैठक में निर्णय लिया गया कि कंडम और गैस से चलने वाले वाहनों को मेला में एंट्री नहीं दी जाएगी और श्रद्धालुओं के स्वास्थ्य परीक्षण के लिए हेल्थ चैकअप कैंप भी लगाया जाएगा।

आंवलीघाट में जिला सेनानी, होमगार्ड, वोटर बोर्ड लगाया जाएगा और यहां पर वाहनों की पार्किंग व्यवस्था की जाएगी। नर्मदा नदी में डूबने की घटनाओं को रोकने के लिए यहां पर गोताखोर भी तैनात किए जाएंगे। बैठक में निर्णय लिया गया है कि नवरात्र में ऊपर मंदिर पर और नीचे मेला ग्राउंड के अलावा हेलीपेड के पास भी पार्किंग स्थल बनाया जाएगा। ऊपर मंदिर के पास दोपहिया और चारपहिया वाहनों के लिए अलग से पार्किंग स्थल बनाए जाएंगे। नवरात्र में पेयजल के लिए अलग से दो पंप स्थापित किए जाएंगे। इससे पीने के पानी की पर्याप्त व्यवस्था रहेगी और करीब 10 चलित शौचालय स्थापित किए जाएंगे। इस बार सीढ़ी मार्ग पर अतिक्रमण विरोधी दस्ता तैनात रहेगा, वहीं सुरक्षा की दृष्टि से सीसीटीवी कैमरा लगाए जाएंगे।

भीड़ होने पर दर्शन के लिए होगा वन-वे
नवरात्र में अगर ज्यादा भीड़ होती है तो सीढ़ी मार्ग को वन-वे किया जाएगा। इस मार्ग से केवल श्रद्धालु ही माता के दर्शन के लिए पहुंचेंगे और उन्हें वापस इस मार्ग से नहीं आने दिया जाएगा। उन्हें नीचे आने के लिए वाहन मार्ग से निकाला जाएगा। इसके लिए श्रद्धालुओं को तीन किमी की यात्रा पैदल करना पड़ेगी। वाहन मार्ग पर वाहनों की संख्या अधिक होने पर उन्हें किस्तों में दर्शन के लिए भेजा जाएगा।

अफसरों ने आंवलीघाट का किया निरीक्षण
सलकनपुर देवी मंदिर का कलेक्टर अजय गुप्ता और पुलिस अधीक्षक एसएस चौहान ने निरीक्षण भी किया। वे आंवलीघाट पर भी गए। नवरात्रि के दौरान 28-29 सितंबर को आंवलीघाट में स्नान करने आने वाले श्रद्धालुओं को कोई परेशानी न हो, इसके लिए कलेक्टर अजय गुप्ता ने नदी में से पानी लिफ्ट करके नल द्वारा नहाने की व्यवस्था करने के आदेश दिए हैं। कलेक्टर ने आदेश दिए हैं कि महिला एवं पुरुषों के लिए अलग-अलग व्यवस्थाएं की जाए। साथ ही कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की जाए, जिससे लोग गहरे पानी की तरफ नहीं जाएं।