स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

सीएमओ और अध्यक्ष की कार्यप्रणाली से नाराज चार पार्षदों ने पीआईसी से दिया इस्तीफा

Kuldeep Saraswat

Publish: Sep 06, 2019 11:31 AM | Updated: Sep 06, 2019 11:31 AM

Sehore

सीएमओ और अध्यक्ष मनमर्जी से एजेंडा के प्रस्तावों को पारित करने के आरोप

सीहोर. जावर नगर परिषद अध्यक्ष शैलेष वैद्य और सीएमओ सुरेखा जाटव की कार्यप्रणाली पर सवालिया निशान लगाते हुए गुरुवार को चार पार्षदों ने पीआईसी से इस्तीफा दिया है। पार्षदों ने इस्तीफा नगर परिषद सीएमओ को दिया है। पीआईसी से इस्तीफा देने वाले चार पार्षदों में तीन कांग्रेस और एक भाजपा का है।

नगर परिषद जावर के वार्ड क्रमांक सात के पार्षद जसपाल सिंह ठाकुर, वार्ड क्रमांक आठ से पार्षद चिंता बाई, वार्ड क्रमांक नौ के पार्षद आत्माराम मालवीय और वार्ड क्रमांक पांच के पार्षद राजेन्द्र कुमार भरैवा ने गुरुवार को नगर पालिका सीएमओ को अपना इस्तीफा देते हुए आरोप लगाया कि पीआईसी की बैठक में नगर पंचायत अध्यक्ष शैलेष वैद्य और सीएमओ अपनी मनमर्जी से एजेंडे के अतिरिक्त प्रस्ताव पारित कर देते हैं। नगर पंचायत अध्यक्ष और सीएमओ का यह तरीका नियमों के खिलाफ है। पार्षदों ने इस पर आपत्ति व्यक्त करते हुए पीआईसी से इस्तीफा दिया है।

पहले भी विवादों में घिरे रहे हैं वैद्य
नगर पंचायत अध्यक्ष शैलेष वैद्य शुरु से ही विवादों से घिरे रहे हैं। एक साल पहले इन पर नगर परिषद उपाध्यक्ष शिवम सोनी ने कई गंभी आरोप लगाए थे। उस समय इनकी तरफ से भी नगर पंचायत उपाध्यक्ष शिवम सोनी पर भी पद का दुरुपयोग करने के आरोप लगाए गए थे। अध्यक्ष और उपाध्यक्ष व पार्षदों की लड़ाई को लेकर जावर नगर परिषद बीते चार साल से जिले में सुर्खियों में रही है।
एक दिन पहले सीएमओ पर लगाए थे आरोप
पीआईसी से इस्तीफा देने के पहले बुधवार को पार्षदों ने नगर परिषद सीएमओ सुरेखा जाटव के खिलाफ विरोध दर्ज कराया था। बुधवार को वार्ड क्रमांक एक में आपकी सरकार आपके द्वार शिविर का आयोजन किया गया था। हितग्राहियों की समस्याओं का निराकरण करने की बजाए सीएमओ शिविर छोड़कर चली गई, जिस पर पार्षदों ने नाराजगी व्यक्त की।