स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

टोल देने के बाद भी लोगों को गड्ढों भरी सड़क पर करना पड़ रहा सफर

Radheshyam Rai

Publish: Nov 06, 2019 12:07 PM | Updated: Nov 06, 2019 12:07 PM

Sehore

टोल प्लाजा कंपनी द्वारा पूरा टोल वसूलने के बाद भी जर्जर हो चुकी सड़क की मरम्मत नहीं की जा रही है।

सीहोर. टोल प्लाजा कंपनी द्वारा पूरा टोल वसूलने के बाद भी जर्जर हो चुकी सड़क की मरम्मत नहीं की जा रही है। ऐसे में वाहन चालक अपने आपको ठगा सा महसूस कर रहे हैं। उन्हें टोल देने के बाद भी गड्ढों भरी सड़क पर सफर तय करने के लिए मजबूर होना पड़ रहा है।

बुदनी से संदलपुर जाने वाली सड़क से हर दिन सैकड़ों वाहनों का आवागमन होता है। सड़क की हालत इस समय काफी खराब हो चुकी है। अंदाजा इससे ही लगाया जा सकता है कि सड़क कई जगह उखड़कर गड्ढों में तब्दील हो गई है। ऐसे में आवाजाही करने वाले लोगों को परेशानी उठाने के साथ दुर्घटना का शिकार होना पड़ रहा है।

चालकों को सुविधा नहीं दी जा रही

लापरवाही का आलम यह है कि कंपनी टोल वसूलने पर जोर दे रही है, लेकिन सड़क की मरम्मत करने की ओर कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है। बुदनी से संदलपुर होकर इंदौर जाने वाले वाहनों से टोल प्लाजा कंपनी टोल टैक्स वसूल रही है। बावजूद इसके वाहन चालकों को सुविधा नहीं दी जा रही है। इसकी हकीकत बुदनी से संदलपुर के 90 किमी मार्ग के बीच कई जगह हुई खराब सड़क बयां कर रही है। बुदनी और नसरुल्लागंज के आसपास सड़क पर कई जगह बड़े गड्ढे हो गए हैं। जिससे आवाजाही करने वाले लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। वहीं दो पहिया वाहन चालक अक्सर दुर्घटनाओं का शिकार हो रहे हैं।

[MORE_ADVERTISE1]

मुश्किल बढ़ती जा रही हैं

सड़क किनारे रहने वाले महेन्द्र सिंह, सतीश, रमेश कुमार घनश्यामदास का कहना है कि हम सड़क के नजदीक ही हैं। यहां पर अक्सर दो पहिया वाहन हादसे का शिकार होते हैं। कंपनी को बारिश के पूर्व मेंटेनेंस कर सड़क पर हो रहे गड्ढों को भरना था, कंपनी ने ऐसा नहीं किया अब यह गड्ढे काफी बड़े-बड़े हो चुके हैं। बारिश खत्म होने के बाद भी कंपनी द्वारा सड़कों की मरम्मत की ओर कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है। जिससे लोगों की मुश्किल बढ़ती जा रही हैं।

[MORE_ADVERTISE2]

प्रतिदिन होता है सैकड़ों वाहनों का आवागमन

सड़क से हर दिन 300 से अधिक रेत के डंपर और सैकड़ों की संख्या में अन्य वाहन निकलते हैं। ऐसे में सड़क की मरम्मत नहीं कराना सीधे जिम्मेदारों की लापरवाही को दर्शाता है। ऐसे में यह सड़क कभी भी बड़े हादसे का कारण बन सकती है। लोगों का कहना है कि कंपनी जब टोल वसूलती है तो सड़क की मरम्मत भी जल्द कराना चाहिए। जिससे कि समस्या नहीं उठाना पड़े।


सड़क के गड्ढे बारिश के चलते नहीं भरे जा रहे थे, अब बारिश थम चुकी है। शीघ्र ही सड़कों की मरम्मत कराई जाएगी। जिससे वाहन चालकों को कोई परेशानी नहीं होगी।
डीके स्वर्णकार, असिस्टेंट जनरल मैनेजर एमपीआरडीसी

[MORE_ADVERTISE3]