स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

अपने अधिकार के लिए हड़ताल पर गए रोजगार सहायक, देखें वीडियो

Kuldeep Saraswat

Publish: Oct 18, 2019 12:36 PM | Updated: Oct 18, 2019 12:36 PM

Sehore

जिले में रोजगार सहायकों ने शुरू की कलमबंद हड़ताल

सीहोर। रोजगार सहायक लंबें समय से अपनी प्रमुख मांगों को लेकर संघर्ष कर रहे हैं, उसके बाद भी जब कुछ नहीं हुआ तो उनका आक्रोश उभरकर सामने आने लगा है। उन्होंने प्रदेश संगठन के आव्हान पर कलमबंद, कम्यूटर बंद हड़ताल शुरू कर दी है। इसका असर पहले ही दिन पंचायतों में दिखा जब कामकाज ठप हो गए और लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ा।

सीहोर में रोजगार सहायक जनपद पंचायत में हड़ताल पर बैठे हैं। अध्यक्ष अखिलेश मेवाड़ा ने बताया कि पूरा काम ईमानदारी से करने के बावजूद मांग पूरी करने में शासन अनदेखी कर रहा है। इसी वजह से यह कदम उठाना पड़ा। हड़ताल पर बैठने वालों मेंं पदम मालवीय, सुरेश परमार, मनोहसिंह, गणपत मेवाड़ा, अनिल मालवीय, छोटेलाल, रोहित शर्मा, सुनील वर्मा, मनोज धनगर आदि हैं।

तीन माह में नियमित करने का किया था वादा
इधर आष्टा में भी रोजगार सहायकों ने हड़ताल शुरू कर दी है। ब्लॉक अध्यक्ष रविंद्र राजपूत ने बताया कि प्रदेश सरकर ने अपने वचन पत्र में रोजगार सहायकों को प्रदेश में कांग्रेस सरकार बनने पर 3 माह में नियमित करने का वादा किया था। यह आज तक पूरा नहीं हुआ है। वहीं रोजगार सहायकों की सेवाएं जनपदों में समाप्त की जा रही है। सरकार आगामी 22 अक्टूबर तक निर्णय नहीं लेती है तो 23 अक्टूबर को राजधानी भोपाल में प्रदेश के 23 हजार रोजगार सहायक महात्मा गांधी से प्रेरित होकर आंदोलन कर सरकार को वचन याद दिलाएंगे। इस अवसर पर सुरेन्द्र ठाकुर, राजेन्द्र पचलासिया, लाड़सिंह मालवीय, राजेन्द्र वर्मा, आशिक खां, अंकित जैन, बलराम मेवाड़ा आदि उपस्थित थे।