स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

बिजली का तार में उलझा ट्रक, टूटा पोल, बड़ा हादसा होते-होते टला

Veerendra Shilpi

Publish: Dec 08, 2019 10:23 AM | Updated: Dec 08, 2019 11:30 AM

Sehore

झूलते तार बन रहे हादसों का सबब...

सीहोर/इछावर. नगर से एक किलोमीटर दूर इछावर-मोगरा रोड पर शनिवार को हादसा होते-होते उस समय बचा, जब झूलते विद्युत तार से एक ओवरलोड ट्राला उलझ गया। तार सड़क पर बिखर गए और इछावर मंडी के पीछे वाला विद्युत पोल भी जमीदोज हो गया।

गनीमत यह रही कि उस वक्त सड़क से कोई आवाजाही नहीं हो रही थी, सड़क सुनसान थी अन्यथा बड़ा हादसा घटित हो सकता था। सूचना के बाद बिजली कंपनी के कर्मचारी मौके पर पहुंचे।

ज्ञातव्य है कि इछावर तहसील के कई गांवों मे बिजली के तार झूल रहे हैं, जिनके कारण कभी भी कोई बड़ा हादसा हो सकता है। लोगों ने कई बार विद्युत कंपनी के अफसरों को अवगत कराया, लेकिन स्थिति में सुधार नहीं हो पाया है। बिजली कंपनी द्वारा मेंटेनेंस के नाम पर तो लाखों रुपए खर्च किए जाते हैं, लेकिन इसका असर क्षेत्र में कहीं दिखाई नहीं देता।

[MORE_ADVERTISE1]

मप्र मध्यक्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी इछावर क्षेत्र के गांवों मे हादसों को न्योता देने में जुटी है। कहीं उसने लकड़ी की बल्लियों को बिजली का खंबा बना दिया है तो कहीं करंट वाले तारों को पेड़ों के सहारे लटका दिया है। खेतों में झूलते बिजली के नंगे तार किसी भी वक्त जानलेवा साबित हो सकते हैं।

तहसील के ग्राम गाजीखेड़ी में बिजली विभाग ने जो कारस्तानी कर रखी है उससे कभी भी लेने के देने पड़ सकते हैं। गांव के ट्रांसफॉर्मर से जो लाइन डाली गई है उसमें लकड़ी की बल्लियों का इस्तेमाल किया गया है वहीं खेतों में बिजली के तारों को पेड़ों के सहारे लटका दिया गया है। बिजली के नंगे तार खेतों में झूल रहे हैं जो किसी भी दिन बड़े हादसे का कारण बन सकते हैं।

ग्राम पागरी ओर रामगड़ के बीच कुछ दिन पहले बड़ी लाइट के पोल गिर गए थे। विद्युत कंपनी के कर्मचारियोंकेा को अवगत कराने के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं हुई जिसका परिणाम स्वरूप उसकी चपेट में आने से एक भैंस की मौत हो गई। पीडि़त जगदीश ने बताया कि पांगरी जंगल और रामगढ़ के बीच बड़ी लाइट के पोल नीचे गिरे हुए हैं। इस विषय में हमने बिजली कर्मचारियों को उसी दिन अवगत करा दिया था, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई।

गांवों में लकडिय़ों के सहारे दौड़ रहा करंट
बिजली कंपनी की अनदेखी के चलते गांवों में लकड़ी की बल्लियों के सहारे बिजली व्यवस्था होते नजर आ रही है जो कभी भी ग्रामीणों के लिए हादसे का कारण बन सकती है। बिजली कंपनी द्वारा मेंटेनेंस के नाम पर सिर्फ रस्म अदायगी ही की जा रही है।

कई गांव में खेतों पर लटकते तार से हमेशा दुर्घटना का भय बना रहता है इछावर तहसील के कई गांवों मे अमूमन एक जैसी स्थिति है। ग्रामीणों ने बताया कि खेतों पर तार लटक रहे हैं जो कभी भी हादसे का कारण बन सकते हैं, लेकिन बिजली कंपनी के अफसरों का इस ओर ध्यान नहीं है।

[MORE_ADVERTISE2]

तार टूटने की सूचना मिलने पर कर्मचारी पहुंचे थे। जहां भी हमें बिजली के तारों के झूलने की सूचना मिलती है, तुरंत दुरुस्त कराई जाता है। क्षेत्र में जहां भी बिजली के तार झूल रहे हैं उन्हें शीघ्र ही दुरुस्त कराया जाएगा।
- योगेश साहू, एई, बिजली कंपनी, इछावर

[MORE_ADVERTISE3]