स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

cheated from saheed family : अनोखा मामलाः पहले की CRPF अफसर की वर्दी और परिचय पत्र चोरी, फिर शहीदों के परिवार से ठग लिए 70 लाख

Amit Mishra

Publish: Aug 20, 2019 16:46 PM | Updated: Aug 20, 2019 16:46 PM

Sehore

मथुरा के ब्योही राया का रहने वाला है शातिर ठग, हापुड़ गाजियाबाद पुलिस से हो चुकी है मुठभेड़

कुलदीप @सारस्वत की रिपोर्ट
छह महीने पहले सीहोर शासकीय महारानी लक्ष्मी बाई स्कूल में भृत्य कारगिल शहीद ओमप्रकाश मर्दानिया की पत्नी कोमल मर्दानिया के साथ आठ लाख रुपए की ठगी cheated करने वाला सातिर बदमाश पंजाब पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पंजाब पुलिस ने आरोपी युवक को एक दूसरे ठगी के मामले में गिरफ्तार किया है। आरोपी इतना सातिर है कि उसकी गाजियाबाद की हापुड़ कोतवाली पुलिस के साथ मुठभेड़ भी हो चुकी है। मुठभेड़ में सातिर ठग को एक गोली लगी थी। हापुड़ पुलिस की गोली से घायल होने के बाद गिरफ्तार हुए बदमाश ने पूछताछ में बताया है कि वह साल 2013 से सीआरपीएफ का जवान बनकर शहीदों के परिवारों को ठग रहा है।अभी तक करीब सात शहीदों के परिवार से 60 से 70 लाख रुपए LAC की ठगी कर चुका है।


उत्तर प्रदेश का रहने वाला
सातिर ठग हरेन्द्र सिंह ब्योही राया मथुरा उत्तर प्रदेश का रहने वाला है, जो कि सीआरपीएफ का जवान बनकर वारदात को अंजाम देता है। कोतवाली पुलिस हापुड़ पुलिस की सूचना पर शहीद की पत्नी से ठगी करने वाले आरोपी हरेन्द्र सिंह से मिल चुकी है। सीहोर पुलिस लगातार पंजाब पुलिस के संपर्क में है, जल्द ही आरोपी को कानूनी प्रक्रिया पूरी कर सीहोर लाया जाएगा।

MP NEWS

छत्तीसगढ़ में शहीद के परिजन से ठगे दस लाख रुपए
सातिर ठग से हापुड़ पुलिस की मुठभेड़ छत्तीसगढ़ में एक शहीद सैनिक के परिवार से की गई ठगी के मामले को लेकर हुई थी। यहां पर भी बदमाश ने ठगी की वारदात को अंजाम सीहोर की तरह सीआरपीएफ CRPF officer का एसआई एमएल मीणा बनकर दिया था। यह सैनिक हापुड़ का रहने वाला था, इसलिए इस मामले की जांच हापुड़ पुलिस कर रही थी। एक दिन पुलिस को यह सातिर बदमाश सीआरपीएफ की भर्ती में मिल गया। पुलिस ने पीछा किया तो भागने लगा और फायर कर दिया।

 

पुलिस की तरफ की गई फायरिंग
पुलिस की तरफ से भी फायरिंग की गई, जिससे बदमाश घायल हो गया। पुलिस ने जब बदमाश गिरफ्तार किया तो पता चला कि आरोपी का सही नाम हरेन्द्र सिंह है। सीआरपीएफ के एसआई एमएल मीणा का परिचय पत्रidentity card और वर्दी uniform कहीं से चुरा stolen ली है। यहां से खुलासा हुआ कि आरोपी बीते छह साल से शहीद के परिवारों को ठगने का काम कर रहा है।

सीहोर में सैनिक की पत्नी को लालच देकर बनाया था ठगी शिकार
कोतवाली पुलिस के मुताबिक 11 फरवरी 2019 को आरोपी हरेन्द्र सिंह सीआरपीएफ का जवान बनकार सैनिक की पत्नी कोमल मर्दानिया के पास पहुंचा था। आरोपी ने खुद का नाम एमएल मीणा बताया और सीआरपीएफ का परिचय पत्र दिखाया। आरोपी ने शहीद की पत्नी को लालच दिया कि कारगिल शहीद की पेंशन का करीब 35 लाख रुपए पेंशन शाखा में अटका हुआ है।


पैसा मिलते ही आरोपी युवक फरार हो गया
इस पैसे का एक हिस्सा करीब आठ लाख रुपए शहीद की मां को दिया जाना है। यदि यह पैसा कागजी कार्रवाई पूरी कर सीआरपीएफ की पेंशन शाखा के माध्यम से अपनी सास तक पहुंचा देती है तो रुका हुआ 35 लाख रुपए सीधे उसके खाते में आ जाएगा। शहीद की पत्नी बदमाश की बातों में फंस गई और उसने बैंक में जमा पैसा निकालकर दे दिया। पैसा मिलते ही आरोपी युवक फरार हो गया।

 

शहीद की पत्नी कोमल मर्दानिया के साथ ठगी करने वाले बदमाश की शिनाख्त हो गई है। वह इस समय पंजाब पुलिस की गिरफ्त में हैं। सातिर बदमाश की हापुड़ पुलिस से मुठभेड़ भी हो चुकी है। जल्द ही आरोपी को कानूनी प्रक्रिया पूरी कर सीहोर लाया जाएगा।
मनोज मिश्रा, टीआई कोतवाली सीहोर