स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

शहर की बदहाल जर्जर सड़कों पर नजर हटते दुर्घटनाग्रस्त हो रहे वाहन चालक

Veerendra Shilpi

Publish: Nov 15, 2019 09:23 AM | Updated: Nov 15, 2019 09:23 AM

Sehore

सड़कों की हालत ऐसी ही है कि नजर हटी की दुर्घटना में देर नहीं लगती

सीहोर. ऐ भाई जरा देख के चलो आगे ही नहीं पीछे भी... जी हां यह गीत सीहोर शहर पर सटिक बैठ रहा है। जहां की सड़कों की हालत ऐसी ही है कि नजर हटी की दुर्घटना में देर नहीं लगती है। इन सड़कों पर लंबें समय से आवाजाही करने में नागरिक परेशानी उठा रहे हैं। उसके बाजवूद इनको ठीक करने जहमत नहीं उठाई है।

सीहोर को जिले का दर्जा तो मिल गया, लेकिन यहां की सड़कों की सूरत नहीं बदली है। अंदाजा इससे ही लगाया जा सकता है कि सड़क पर इस तरह से गड्ढे हो गए हैं कि उन पर चलते समय जरा भी नजर हटी की हादसा होने में देर नहीं लगती है। यह स्थिति दर्जनों स्थानों पर बनी हुई है।

जिससे लोगों को आने जाने में काफी दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है। वहीं दुर्घटना होने से अस्पताल का मुंह देखना पड़ रहा है। उल्लेखनीय है कि जब जिला मुख्यालय की सड़क के यह हाल है तो अन्य जगह क्या स्थिति होगी अंदाजा लगाया जा सकता है।

[MORE_ADVERTISE1]

शहर में यहां की सड़कें है बदहाल स्थिति में
पोस्ट ऑफिस चौराहे से लाल मस्जिद, ट्रामा सेंटर से सब्जी मंडी, बीएसएनएल से इंग्लिशपुरा, ऑफिसर्स कॉलोनी, तहसील चौराहा से एमएलबी स्कूल, बडिय़ाखेड़ी, पुराना बस स्टैंड से मंडी जाने वाले रोड सहित अन्य जगह की सड़क खराब है। इनके अतिरिक्त कॉलोनी की कई सड़कों की हालत ज्यादा ठीक नहीं है। जिनमें से कई सड़क पहले से ही बदहाल है तो कई को बारिश ने खराब कर दिया है।

नागरिक कर चुके हैं धरना, आंदोलन
शहर की सड़कों को लेकर नागरिक कई बार अफसर और जनप्रतिनिधियों को शिकायत दर्ज करा चुके हंै। यह तक की पिछले दिनों शिवसेना ने कोतवाली चौराहे पर धरना प्रदर्शन किया था। जिसमें जल्द ही इस समस्या को दूर करने की बात कहीं थी। लापरवाही का आलम यह है कि आज तक कुछ नहीं हुआ है। ऐसे में लोगों की दिक्कत हर दिन बढ़ती जा रही है। वहीं शहर की सूरत बिगड़ रही है।

पेचवर्क का कराया शुरू काम
नगर पालिका अधिकारियों की माने तो शहर में कई जगह की खराब सड़कों पर पेचवर्क कराने का काम शुरू किया है। बताया जा रहा है कि इसमें पहले मुख्य सड़कों का मेंटनेंस किया जाएगा। अधिकारियों की माने तो सीवरेज के काम के दौरान भी करीब 13 से अधिक सड़कें खराब हुई है।

इसके अवाला अन्य सड़क अलग बेकार अवस्था में है। ये सड़कें लगातार वाहन चालकों के लिए परेशानी का सबब बनी है। जर्जर सड़क से परेशान नागरिकों ने कई बार धरना प्रदर्शन भी किए गए, लेकिन इस तरफ ध्यान नहीं दिया जा रहा है। जर्जर सड़क हादसों का सबब बन रही है।

[MORE_ADVERTISE2]

हमारी तरफ से शहर की खराब सड़कों का पेचवर्क कराने का काम शुरू कराया है। यह काम जारी है। इसमें जितनी भी सड़क की हालत खराब है उनको ठीक किया जाएगा।
- संदीप श्रीवास्तव, सीएमओ नगर पालिका सीहोर

[MORE_ADVERTISE3]