स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

MP Nagarpalika Hindi News : 'पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष बोले- कांग्रेस फंसा रही है, पूर्व विधायक ने जबाव दिया- सब अपनी करनी का फल भोगते हैं'

Kuldeep Saraswat

Publish: Aug 03, 2019 12:23 PM | Updated: Aug 03, 2019 12:50 PM

Sehore

नगर पालिका अध्यक्ष अमिता अरोरा ने पार्षदों पर लगाए गंभीर आरोप

सीहोर. सीहोर नगर पालिका में वित्तीय अनियमितताओं को लेकर पार्षद और नगर पालिका अध्यक्ष के बीच कलह मची हुई है। शुक्रवार को नगर पालिका अध्यक्ष nagar palika adhyaksh अमीता अरोरा ने अपना पक्ष रखने के लिए प्रेसवार्ता की। उन्होंने पार्षदों पर ठेकेदारी करने और गलत फाइलों पर हस्ताक्षर के लिए दबाव बनाने का charged up आरोप लगाया। उनके पति जसपाल अरोरा ने कांग्रेस सरकार पर उनके खिलाफ साजिश conspiracy करने की बात कही। इसके तत्काल बाद कर पूर्व विधायक रमेश सक्सेना ने मीडिया से रूबरू होकर अरोरा के सभी आरोपों को निराधार बता दिया।

कांग्रेस ने मुझे लालच दिए, मैंने ज्वाइन नहीं की: अरोरा
नगर पालिका अध्यक्ष अमिता अरोरा के पति पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष जसपाल अरोरा ने शुक्रवार को कांग्रेस पर जमकर हमला बोला है। नपा की वित्तीय अनियमितताओं की जांच में फंसी पत्नी का बचाव करते हुए भाजपा नेता जसपाल अरोरा ने कहा कि लोकसभा चुनाव के समय कांग्रेस ने मेरे लिए काफी एप्रोच की। मुझे मनमर्जी का चुनाव लड़ाने और निगम मंडल का अध्यक्ष बनाने तक का प्रलोभन दिया गया, लेकिन मैंने मना कर दिया, जिसे लेकर सरकार झूठे प्रकरण तैयार कर हमें फंसा रही है।

 

एसडीएम और कलेक्टर के आदेश पर की गई

भाजपा नेता ने नाला खुदाई से संबंधित फाइल की फोटो कॉपी भी मीडिया को दिखाई। उन्होंने कहा कि भुगतान की पूरी प्रक्रिया सीएमओ, एसडीएम और कलेक्टर के आदेश पर की गई है। नोटशीट पर कहीं भी अध्यक्ष के हस्ताक्षर नहीं हैं। अरोरा ने एक पत्र भी दिखाया, जिसमें नगर पालिका अध्यक्ष की तरफ से कलेक्टर को नाला निर्माण कार्य दूसरे विभाग से कराने की बात लिखी है।

 

विरोध प्रदर्शन को लेकर भावुक होते दिखाई दीं

मीडिया से रूबरू होते हुए नगर पालिका अध्यक्ष अमिता अरोरा ने पार्षदों पर गंभीर आरोप लगाए। उन्होंने कहा कि विरोध करने वाले कुछ पार्षद ठेकेेदारी करते हैं। गलत फाइलों पर हस्ताक्षर कराने के लिए दबाव बना रहे थे, मैंने मना किया तो उन्होंने अविश्वास प्रस्ताव रख दिया। नपा अध्यक्ष अरोरा गुरुवार को पार्षदों द्वारा किए गए विरोध प्रदर्शन को लेकर भावुक होते दिखाई दीं।

 

पार्षदों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की

अरोरा ने निर्माण कार्य में देरी होने को लेकर नगर पालिका सीएमओ अमरसत्य गुप्ता पर भी आरोप लगाए। उन्होंने कहा कि सीएमओ निर्माण कार्य नहीं करने दे रहे हैं। शुक्रवार को गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी ने पुलिस अधीक्षक एसएस चौहान के नाम सीएसपी मंगल सिंह को ज्ञापन सौंपकर पार्षदों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। पार्षदों पर आरोप है कि उन्होंने पुतला दहन के दौरान पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष जसपाल अरोरा की पगड़ी का अपमान किया है।

 

xmla

हम कुछ करने नहीं, सिर्फ देखने लायक हैं: सक्सेना

कांग्रेस किसी की जांच नहीं करा रही है, सब अपनी करनी का फल भोगते हैं। शहर में जितने भी घटिया निर्माण कार्य हुए हैं, उनकी शिकायत होगी तो गंभीरता से जांच कराई जाएगी। नाले निर्माण कार्य की जांच को लेकर प्रभारी मंत्री आरिफ अकील ने आठ दिन का समय दिया था, जांच हो गई और संबंधितों को नोटिस जारी हो गए हैं। यह बात मीडिया से रूबरू होते हुए पूर्व विधायक रमेश सक्सेना ने कही।

 

इससे ज्यादा खराब काम किसी भी शहर में नहीं हुआ

पूर्व विधायक रमेश सक्सेना ने कहा कि सरकार ने इतने कम समय में बहुत सी जनहितैषी योजनाएं शुरू की हैं और इन योजनाओं से लोग काफी प्रशन्न हैं। एक सवाल के जबाव में पूर्व विधायक सक्सेना ने कहा कि सीवेज प्रोजेक्ट का काम घटिया नहीं, इतना खराब हुआ है कि इससे ज्यादा खराब काम किसी भी शहर में नहीं हुआ। इसे तो बंद करना पड़ेगा, यदि बंद नहीं किया गया तो आने वाले समय में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ेगा।

 

आंदोलन करने की जरूरत नहीं पड़ेगी

पूर्व राज्यपाल अजीत कुरैशी द्वारा अफसरों की कार्यप्रणाली पर उठाए गए सवालों को लेकर उन्होंने कहा कि अजीत कुरैशी हमारे नेता हैं, उन्हें आंदोलन करने की जरूरत नहीं पड़ेगी, यदि जरूरत पड़ी तो वो तो सिर्फ इशारा करेंगे, आंदोलन तो हम करेंगे। शहर के विकास को लेकर सक्सेना ने कहा कि सीहोर की जनता ने हमें कुछ करने नहीं सिर्फ देखने लायक छोड़ा है। अब हम कुछ करने की स्थिति में नहीं हैं, सिर्फ देखने की स्थिति में हैं।