स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

संभाग स्तरीय जुडो प्रतियोगिता में भोपाल बना चैम्पियन

Kuldeep Saraswat

Publish: Nov 08, 2019 13:18 PM | Updated: Nov 08, 2019 13:18 PM

Sehore

- पांच गोल्ड मेडल के साथ भोपाल बना चैम्पियन, चार सिल्वर मेडल के साथ कन्या महाविद्यालय बना उप-विजेता

सीहोर। शासकीय कन्या महाविद्यालय में संभाग स्तरीय जुडो प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। प्रतियोगिता में पांव गोल्ड मेडल के साथ भोपाल चैम्पियन बना। वहीं चार सिल्वर मेडल के साथ शासकीय कन्या महाविद्यालय सीहोर उप-विजेता रहा है।

प्रतियोगिता प्राचार्य डॉ. सुमन तनेजा की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई जिसमें भोपाल, होशगाबाद, सीहोर जिले के महिला खिलाडिय़ों ने भाग लिया। आज खेले गये मैचों में शुति बुबे भोपाल, मिनाक्षी भोपाल, शिवानी यादव भोपाल, शिवली मालवीय होशंगाबाद, समिक्षा होशंगाबाद, मुस्कान भोपाल, श्रेष्टी जोशी भोपाल, अमीषा काले होशंगाबाद ने मेडल जीते।

[MORE_ADVERTISE1]
[MORE_ADVERTISE2]

संगठन सचिव रवि विरहा क्रीडा अधिकारी ने बताया कि चयनित खिलाड़ी रीवा में आयोजित राज्य स्तरीय प्रतियोगिता में अपना हुनर दिखाएंगे। आज हुई प्रतियोगिता में निर्णायक की भूमिका मोनिका पारोचे भोपाल, गितिका पंत भोपाल, चन्द्रशेखर शर्मा सीहोर रहे। प्रतियोगिता के समापन में महाविद्यालय की प्राचार्य डॉ. सुमन तनेजा द्वारा विजेता, उप-विजेता खिलाडिय़ों को पुरस्कृत किया गया।


करियर संवारने में इंग्लिश नहीं बनेगी बाधा
सीहोर. शासकीय कन्या महाविद्यालय में कॅरियर प्रकोष्ठ द्वारा इंग्लिश एण्ड सॉफ्ट स्किल्स का प्रशिक्षण की शुरुआत की गई। प्रकोष्ठ प्रभारी डॉ. कलिका डोलस ने बताया कि वर्तमान में कॅरियर में सफलता के लिए इंग्लिश अत्यत आवश्यक है। कई बार छात्राएं केवल इग्लिश सही न होने की वजह से चयनित नहीं हो पाती, इस बाधा को दूर करने के लिए यह प्रशिक्षण लाभदायक होगा। डॉ. डोलस ने बताया कि प्रशिक्षण नि:शुल्क है। छात्राएं प्रशिक्षण को लेकर उत्साहित है। अब तक लगभग 60 छात्राओं ने लिए प्रशिक्षण के लिए पंजीयन कराया है। प्राचार्य डॉ. सुमन तनेजा ने छात्राओं को पूर्ण लगन से इस प्रशिक्षण को पूर्ण करने पर बल दिया। छात्रा कुमारी उमा पंाचाल ने बताया कि हमें भविष्य में यूपीएससी की परीक्षा देनी है उसकी तैयारी में यह प्रशिक्षण अत्यंत सहायक होगा। छात्रा निकिता ने कहा कि समय- समय पर प्रकोष्ठ द्वारा होने वाले इस प्रकार के प्रशिक्षण हमारे व्यक्तित्व विकास में काफी सहायक सिद्ध होते है। इंग्लिश का यह प्रशिक्षण करने से हमारे आत्मविश्वास में वृद्धि होगी। इस अवसर पर वनस्पति शास्त्र के सहायक प्राफेसर डॉ. राजेश बकोरिया, रसायन विभाग के अतिथि विद्धान डॉ. नेहा शर्मा, रमाकांत रिछारिया, कमल महेश्वरी उपस्थित थे।

[MORE_ADVERTISE3]