स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

अभी भी संभल जाएं! बदलेगा मौसम तो कुछ ऐसा होगा पृथ्वी का मंज़र...

Priya Singh

Publish: Oct 03, 2019 14:19 PM | Updated: Oct 03, 2019 14:19 PM

Science and Tech

  • जलवायु परिवर्तन से अस्त-व्यस्त हो जाएगा हमारा जीवन
  • इंसानों के दिमाग पर भी इसका बहुत बुरा असर पड़ेगा

नई दिल्ली। जलवायु में हो रहा लगातार परिवर्तन से हमारा जीवन अस्त-व्यस्त हो जाएगा। आने वाले समय में केवल हमारे वातावरण पर ही असर नहीं पड़ने वाला बल्कि इंसानों के दिमाग पर भी इसका बहुत बुरा असर पड़ेगा। ज्वालामुखी फटने के सिलसिले होंगे, आसमान में लगातार बिजली कड़केगी हो सकता है की रेगिस्तान की रेत भी उड़ जाएगी।

globalwarm.png

1- वैज्ञानिकों की मानें तो अगर तूफानी बादलों का तापमान बढ़ता रहा तो आकाश में बिजलियों की कड़कड़ाहट भी बढ़ जाएगी। जिसके चलते जंगली आग की घटनाएं ज्यादा होंगी।

2- इसका असर विमानों की उड़ान पर भी होगा। जलवायु परिवर्तन से विमानों को अधिक हलचल (टर्ब्युलेंस) का सामना करना पड़ सकता है।

3- जलवायु परिवर्तन के चलते बड़े ग्लेशियर टूटेंगे जिससे समुद्री यातायात प्रभावित हो सकता है।

4- इस बात से इंकार नहीं किया सकता कि हमारा मूड भी मौसम के मिजाज़ पर निर्भर करना है। हमारे आस-पास का तापमान जैसे बढ़ेगा वैसे-वैसे इंसानों का गुस्सा भी बढ़ेगा। जिससे इंसान हिंसा करने पर उतर आएंगे।

5- पृथ्वी का तापमान बढ़ने से ज्वालामुखी होंगे सक्रिय होने लगेंगे।

angry.jpg

6- तापमान बढ़ने से जलस्तर बढ़ेगा जिसके बाद समुद्रों में अंधेरा भी बढ़ने लगेगा।

7- इंसानों के शरीर में कई तरह के बदलाव देखने को मिलेंगे। गुस्सा आने के साथ-साथ इंसानों में एलर्जी की शिकायत भी बढ़ने लगेगी।

8- जलवायु का तापमान बढ़ने से स्तनपायी जीवों पर खासा असर देखने को मिलेगा। वैज्ञानिकों की मानें तो करीब 5 करोड़ साल पहले जब पृथ्वी का तापमान बढ़ा था तो स्तनपायी जीवों का आकार घटा था। वैज्ञानिकों की आशंका है कि आने वाले समय में ऐसा ही कुछ हो सकता है।

9- जलवायु परिवर्तन के कारण चींटियों के व्यवहार में भी बदलाव देखने को मिल सकते हैं।

10- बता दें कि रेगिस्तान में रेत को रोकने में बैक्टरीया मदद करते हैं। वे सॉइल इरोजन को रोकने के बायोक्रस्ट जैसी एक मज़बूत परत बना लेते हैं। लेकिन तापमान के और बढ़ने से सॉइल इरोजन बढ़ेगा।