स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

बजरी माफियाओं के बेखौफ हमले, दिनरात चल रहा अवैध खनन

Rakesh Verma

Publish: Sep 18, 2019 20:30 PM | Updated: Sep 18, 2019 20:30 PM

Sawai Madhopur

-दिनरात चल रहा अवैध खनन, कार्रवाई के नाम पर औपचारिकता

सवाईमाधोपुर. सुप्रीम कोर्ट की ओर से बनास नदी से बजरी के खनन एवं परिवहन पर रोक है। इसके बाद भी क्षेत्र में बजरी माफिया धड़ल्ले से बजरी का परिवहन कर रहे है। पुलिस व खनिज विभाग बेपरवाह बने हुए हैं। दिनरात ग्रामीण क्षेत्रों में बजरी से भरे वाहन सड़कों पर दौड़ लगा रहे हैं, लेकिन कार्रवाई के नाम पर मात्र औपचारिकता ही पूरी की जा रही है।



लग रहा राजस्व का चूना
क्षेत्र में धड़ल्ले से चल रहे बजरी के अवैध कारोबार से सरकार को प्रतिदिन लाखों रुपए की राजस्व हानि हो रही है। सरकार के रॉयल्टी व टैक्स की सरेआम चोरी कर बजरी माफिया बेरोकटोक क्षेत्र की बजरी को जयपुर, दौसा, भरतपुर, मथुरा आदि कई शहरों में ले जाकर हजारों रुपए में बेच रहे हैं। इससे उन्हें प्रतिदिन लाखों रुपए का भारी मुनाफा हो रहा है। वहीं क्षेत्र की सड़कों के हाल बेहाल हो रहे है। ऐसे में सरकार को लाखों रुपए की राजस्व हानि उठानी पड़ रही है।


जगह-जगह लगे हैं बजरी के ढेर
अवैध बजरी कारोबार में लिप्त लोगों के हौसले इतने बुलंद है कि उन्होंने शिवाड़ पुलिस चौकी के एक किलोमीटर के दायरे में सारसोप-शिवाड़, जामड़ोली एवं स्टेशन रोड सड़क पर कई जगह बजरी के ढेर कर रखे हैं।


आबादी से गुजरती हैं ट्रॉलियां
ग्रामीणों का आरोप है कि यहां बेरोकटोक रात को दर्जनों बजरी से लदी ट्रैक्टर-ट्रॉली एवं डम्पर आबादी क्षेत्र से होकर गुजरते है। इससे आए दिन दुर्घटनाएं होती है। शिकायत के बावजूद कार्रवाई नहीं हो रही है।


हादसे की बनी रहती है आशंका
भाड़ौती. बजरी से भरे वाहन हाइवे की बजाए कच्चे रास्तों से होकर बजरी परिवहन करते हैं। हालत यह है कि ओवरलोड बजरी के ट्रैक्टर-ट्रॉली, ट्रेलर, डंपर दर्जनों की संख्या में रात 10 बजे के बाद से अलसवेरे तक सरपट दौड़ते है। एक के बाद एक दर्जनों की संख्या में बजरी भरे वाहनों के गुजरने से सड़क किनारे रहने वाले लोगों में हादसों का भय बना है।


खनन विभाग के सर्वेयर ने कराया मामला दर्ज
बौंली. थाना क्षेत्र में सोमवार रात को खनन विभाग के सर्वेयर हरिराम महावर ने बौंली थाने पर आकर रैकी कर रहे बाइक चालक सहित तीन ट्रैक्टर ट्रॉली चालकों के खिलाफ अवैध बजरी खनन करने व राजकार्य में बाधा करने, सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाने का मामला दर्ज कराया है। रिपोर्ट में बताया कि वह खनन विभाग की जीप में हैड कांस्टेबल धर्मेंद्र सिंह, कांस्टेबल दिगंबर सिंह, हाइवे मोबाइल टीम के हैड कांस्टेबल राजेंद्र, कांस्टेबल ठंडीराम एवं राकेश के साथ टोल प्लाजा के पास स्थित नाके पर अवैध बजरी परिवहन रोकथाम के लिए ड्यूटी कर रहे थे।

अचानक सवाईमाधोपुर से अवैध बजरी से भरी हुई तीन ट्रैक्टर-ट्रॉली दिखाई दी। इसे रोकने का प्रयास किया, वह तेज गति से ट्रैक्टर-ट्रॉली भगा ले गए। पुलिस ने उनका पीछा कर बाइक चालक महेन्द्र मीणा पुत्र चिरंजीलाल को दबोचा। महेन्द्र से पूछताछ के आधार पर पुलिस ने ट्रैक्टर चालक देवेंद्र मीणा पुत्र चिरंजी मीणा, संतोष उर्फ अन्ना सभी निवासी भारजा नदी थाना मलारना डूंगर एवं राजेश मीणा पुत्र रामराज मीणा निवासी कुंडल के खिलाफ मामला दर्ज किया।


पिछले 4 माह में 3 मामले दर्ज, कार्रवाई शून्य
अवैध बजरी खनन के पूर्व के मामले को देखें तो 15 जून को जस्टना में अवैध बजरी से भरे ट्रैक्टर ट्रॉली निकालने को लेकर आरएसी के जवानों पर बजरी माफियाओं ने पथराव कर दिया। इसमें आरएसी 2 जवान घायल हो गए थे। आरएसी के जवानों ने बौंली थाने में पांच लोगों के खिलाफ नामजद मामला दर्ज कराया था।

ये है मामलें
-19 जून को देवली में अवैध बजरी से भरे ट्रैक्टर ट्रॉली निकालने को लेकर माइनिंग टीम पर बजरी माफियाओं ने पथराव किया। जिस पर माइनिंग टीम ने बौंली थाने में दो नामजद व 15 अन्य लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कराया था।

- 22 जुलाई को खिरनी में अवैध बजरी खनन माफियाओं ने पुलिस पर पथराव किया। इस पर सब इंस्पेक्टर मुकेश मीणा ने 22 नामजद व 20 से 25 अन्य लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कराया था

भाड़ौती मामले में दी दबिश
भाड़ौती मामले को लेकर आरोपियों को गिरफ्तार करने के लिए थाना अधिकारी व सब इंस्पेक्टर मुकेश मीणा के नेतृत्व में टीम गठित कर लालसोट मंडावरी, भारजा नदी व मलारना डूंगर क्षेत्र में आरोपियों कीतलाश में जगह-जगह दबिश दी। भारजा नदी से मामले में लिप्त एक ट्रैक्टर ट्रॉली को भी जब्त किया।

इनका कहना है
मामला दर्ज कर लिया है। आरोपियों की तलाश जारी है। जगह-जगह दबिश दी जा रही है। आरोपियों को गिरफ्तार किया जाएगा।
बनीसिंह गुर्जर, थानाधिकारी, बौंली


नहीं मिल रहा सहयोग
क्षेत्र में अकेले पुलिस के दम पर बजरी माफियाओं के खिलाफ कार्रवाई करना संभव नहीं है। परिवहन, खनिज व राजस्व विभाग के अधिकारियों का सहयोग नहीं मिल रहा है। इसके लिए हमने उच्चाधिकारियों का अवगत कराया है।
जगदीश भारद्वाज, थानाधिकारी, सवाईमाधोपुर