स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

लाखों रुपए की लागत से बना बालिका विद्यालय भवन होने लगा बेकार

Rakesh Verma

Publish: Aug 19, 2019 13:56 PM | Updated: Aug 19, 2019 13:56 PM

Sawai Madhopur

लाखों रुपए की लागत से बना बालिका विद्यालय भवन होने लगा बेकार

चौथकाबरवाड़ा. कस्बे में बालिकाओं को नए स्कूल भवन की सुविधा मिल सके। इसको लेकर शिक्षा विभाग, ग्राम पंचायत तथा चौथ माता ट्रस्ट द्वारा लाखों रुपए खर्च कर स्कूल भवन का निर्माण करवाया गया, लेकिन विद्यालय भवन के चारदीवारी तथा बिजली-पानी, शौचालयों आदि की सुविधा नहीं होने से करीब दो साल से स्कूल का संचालन शुरू नहीं हो पा रहा है।इससे भवन अनुपयोगी साबित होने के साथ ही बेकार होता जा रहा है। जानकारी के अनुसार कस्बे की सब्जी मंडी मार्ग पर संचालित राजकीय बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय का भवन काफी पुराना होने के साथ ही बारिश में विद्यालय भवन की छत टपकने से बालिकाओं को बैठने में परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। भवन की स्थिति को देखते हुए मंडी मार्ग से करीब एक किलोमीटर की दूरी थाना मार्ग पर स्कूल के लिए नए भवन का निर्माण करवाया गया। निर्माण कार्य पूरा हुए दो साल के करीब हो गया है। इस भवन में 5 बड़े हॉल तथा तीन कमरे हैं। इसके अलावा खेलने के लिए भी जगह है, लेकिन नए भवन के चारदीवारी तथा बिजली-पानी शौचालय जैसी सुविधाओं का अभाव होने से इसका उपयोग नहीं हो पा रहा है।


सुरक्षा के लिए चारदीवारी नहीं
बालिका विद्यालय भवन तो बना दिया, लेकिन बालिकाओं की सुरक्षा के लिए चारदीवारी बनाना भूल गए। विद्यालय प्रधानाचार्य हेमलता अग्रवाल का कहना है कि बालिका विद्यालय होने के कारण चारदीवारी होना जरूरी है। इसके साथ ही बिजली-पानी तथा शौचालय जैसी मूलभूत सुविधाओं का भी अभाव होने के कारण विद्यालय पुराने भवन में ही संचालित किया जा रहा है। चारदिवारी के निर्माण के लिए ग्राम पंचायत का सहयोग लिया गया है। ऐसे में बजट स्वीकृत हो गया है, लेकिन बजरी बंद होने के कारण चारदीवारी नहीं हो पा रही है।


देखरेख के अभाव में होने लगे बेकार
देखरेख के अभाव में नवनिर्मित कमरों में धूल मिट्टी के साथ ही पत्थर आदि पड़े होने से कमरों की दुर्दशा होती जा रही है। वहीं उपयोग में आने से पहले ही हॉल की छतें बारिश में टपकने लगी है।