स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

एडीएम ने चिकित्सालय का किया औचक निरीक्षण

Rajeev Pachauri

Publish: Aug 19, 2019 21:16 PM | Updated: Aug 19, 2019 21:16 PM

Sawai Madhopur

गंगापुरसिटी . अतिरिक्त जिला कलक्टर पंकज कुमार ओझा ने सोमवार सुबह सामान्य चिकित्सालय का औचक निरीक्षण कर व्यवस्थाओं को जांचा। एडीएम सुबह करीब 11.30 बजे सामान्य चिकित्सालय पहुंचे। यहां उन्होंने सर्जिकल वार्ड, पुरुष वार्ड, महिला वार्ड, जननी वार्ड, शिशु वार्ड एवं आपातकालीन इकाई आदि का निरीक्षण किया।

गंगापुरसिटी . अतिरिक्त जिला कलक्टर पंकज कुमार ओझा ने सोमवार सुबह सामान्य चिकित्सालय का औचक निरीक्षण कर व्यवस्थाओं को जांचा। एडीएम सुबह करीब 11.30 बजे सामान्य चिकित्सालय पहुंचे। यहां उन्होंने सर्जिकल वार्ड, पुरुष वार्ड, महिला वार्ड, जननी वार्ड, शिशु वार्ड एवं आपातकालीन इकाई आदि का निरीक्षण किया।


उन्होंने जननी वार्ड में प्रसूताओं से उनके हाल जाने। साथ ही उनसे घर से अस्पताल आने में एम्बुलेंस की उपलब्धता आदि की जानकारी ली। निरीक्षण के दौरान कुछ पलंग पर चद्दरें नहीं मिलने एवं शौचालयों की उचित सफाई नहीं होने पर नाराजगी जताते हुए सफाई ठेकेदार को मौके पर बुलाकर फटकार लगाई। साथ ही कार्मिकों को निर्धारित गणवेश में रहने की हिदायत दी। एडीएम ओझा ने स्टोर में दवाइयों की उपलब्धता, जननी सुरक्षा व राजश्री योजना में प्रसूता को मिलने वाली राशि की जानकारी लेकर पेंडिंग फाइलों को निपटाने के निर्देश दिए। उन्होंंने प्रयोगशाला तकनीशियनों से निशुल्क जांचों के बारे में जानकारी ली। इस दौरान उन्होंने रिकॉर्ड रजिस्टर व जांच मशीनों समेत अन्य संसाधनों को जांचा।


रक्त उपलब्धता की ली जानकारी


एडीएम ने ब्लड बैंक में प्रभारी डॉ. बृजेन्द्र कुमार गुप्ता से रक्त की उपलब्धता एवं रखरखाव की जानकारी ली। वहीं ब्लड संग्रहण स्टोर में ब्लड को सुरक्षित स्टोर करने एवं मशीनों की कार्यप्रणाली को जाना। एडीएम ने ब्लड बैंक स्टाफ के सहयोग से परिसर स्थित लॉन में अमरूद का पौधा रोपा। उन्होंने कहा कि हमें अपने आसपास अधिकाधिक संख्या में औषधीय एवं फलदार पौधे लगाने चाहिए।


सुनी फरियाद


एडीएम के निरीक्षण के दौरान निशुल्क दवा वितरण केन्द्रों पर कतार लगी हुई थी। उनसे एक वृद्ध ने तय समय से पहले दवा वितरण खिडक़ी बंद करने की शिकायत की। इस पर एडीएम ने तुरन्त संबंधित कार्मिकों से दवा वितरण सुचारू करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि मरीजों को किसी भी प्रकार की परेशानी नहीं होनी चाहिए। कार्मिकों ने चिकित्सालय में स्वीकृत पलंगों के अनुरूप कार्मिक व भवन नहीं होने एवं अन्य कमियों के बारे में बताया।