स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

जनसंख्या नियंत्रित करने के लिए अब सरकार करेगी यह काम

Dheerendra Vikramadittya

Publish: Jun 30, 2019 00:42 AM | Updated: Jun 30, 2019 00:42 AM

Sant Kabir Nagar

 

जनसंख्या स्थिरता के लिए विभाग को बड़ी जिम्मेदारी

जनसंख्या वृद्धि पर चिंतित सरकार अब परिवार नियोजन के लिए जनसंख्या स्थिरता पखवाड़ा मनाने जा रही है। पंद्रह दिनों तक चलाए जाने वाले इस अभियान में परिवार नियोजन के लिए पुरुषों की भागीदारी सुनिश्चित की जाएगी। महिलाओं को जनसंख्या नियंत्रण के उपाय अपनाने पर कई तरह की प्रोत्साहन राशियों को भी देने का प्रबंध किया गया है।

यह भी पढ़ें- सो रही बच्ची के कमरे में पहुंचा रिश्तेदार, हाथ-पांव बांध करता रहा रेप, बच्ची की हालत जानकर सिहर उठेंगे आप

जनसंख्या नियंत्रण के प्रति पुरुषों की सहभागिता बेहद नगण्य

बढ़ती जनसंख्या पर लगाम कसने के लिए गोरखपुर की महिलाओं ने तो थोड़ी भागीदारी निभाई है लेकिन पुरुषों की इसमें कोई विशेष रूचि नहीं दिखाई पड़ रही है। आंकड़ें गवाह है कि पिछले साल परिवार नियंत्रण के लिए उठाए गए आवश्यक कदम में पुरुषों की भागीदारी न के बरार रही। पिछले सत्र में जहां 7152 महिलाओं ने जनसंख्या नियंत्रण के लिए आवश्यक उपाय करने में सहयोग किए वहीं इसके सापेक्ष महज 84 पुरुषों ने नसबंदी में रुचि दिखाई।

यह भी पढ़ें- 15 साल की भांजी को 55 साल के बुड्ढे़ के हवाले कर दिया, डेढ़ लाख में कर दिया रिश्तों का सौदा

अब जनसंख्या स्थिरता पखवाड़ा से पुरुषों को करेंगे प्रेरित

जनसंख्या वृद्धि से चिंतित सरकार ने अब लोगों को जागरूक करने के लिए जागरूकता अभियान चलाने का निर्णय लिया है। अभियान चलाकर लोगों को जनसंख्या नियंत्रण के उपायों को अपनाने के लिए प्रेरित किया जाएगा। सीएमओ श्रीकांत तिवारी ने बताया कि जनपद में महिलाओं को परिवार नियोजन के साधनों यथा- ओरल पिल्स, छाया पिल्स, अंतरा इंजेक्शन, आईयूसीडी, व महिला नसबंदी को अपनाया के लिए प्रेरित किया जाएगा तो इसी तरह पुरुषों को भी अपनी भागीदारी अधिक से अधिक सुनिश्चित करने के लिए जागरूक किया जाएगा। स्वास्थ्य विभाग यह सुनिश्चित करेगा कि पुरुष भी नसबंदी के उपायों को अपनाए और खुद इसके लिए आगे आए।

यह भी पढ़ें- लोकसभा चुनाव में प्रचंड जीत में निभार्इ थी महत्वपूर्ण भूमिका, अब बीजेपी भेज रही घर

11 जुलाई से चलेगा अभियान ताकि नियंत्रित रहे जनसंख्या

अपर मुख्य चिकित्साधिकारी व नोडल आरसीएच डाॅ. नंद कुमार ने बताया कि जिले में जुलाई से 11 जुलाई से 31 जुलाई तक जनसंख्या स्थिरता पखवाड़ा मनाया जाएगा। शिविर लगाकर लाभर्थियों को परिवार नियोजन की सुविधाएं दी जाएंगी। उन्होंने बताया कि इस बार सभी शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों व अन्य स्वास्थ्य केंद्रो को टारगेट दिया गया है।

यह भी पढ़ें- एसएसपी आॅफिस का घूसखोर क्लर्क चढ़ा एंटी-करप्शन के हत्थे, घूस लेते रंगे हाथ गिरफ्तार

स्वास्थ्य केंद्रों को मिला यह टारगेट

शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों को संबंधित केंद्र पर 10-10 महिला और पुरुष नसबंदी कराना होगा। इसके अलावा अंतरा इंजेक्शन के 100 नए लाभार्थी बनाने होंगे। इसी तरह सीएचसी यानी सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों को 20-20 महिला और पुरुष नसबंदी कराना होगा। इसके अलावा 50 अंतरा इंजेक्शन के नए लाभार्थी बनाने है।

यह भी पढ़ें- वीर बहादुर ने देखा था एक सपना तीन दशक बाद योगी आदित्यनाथ की कैबिनेट ने पूरा किया

सरकार दे रही प्रोत्साहन राशि भी

जिला कार्यक्रम प्रबंधक पंकज आनंद ने बताया कि जनसंख्या नियंत्रण में सहयोग देते हुए परिवार नियोजन करने वाले लाभार्थियों को सरकार प्रोत्साहन राशि भी दे रही है। उन्होंने बताया कि नसबंदी कराने वाले पुरुषों को 2 हजार तो महिलाओं को 1400 रुपये दी जानी है। इसके अलावा पोस्ट स्टर्लाईजेशन (प्रसव के तुरंत बाद नसबंदी) कराने वाली महिलाओं को 2200 रुपये की प्रोत्साहन राशि दी जाएगी। जबकि अस्थायी विधियों में प्रसव पश्चात आईयूसीडी एवं गर्भपात (स्वतः व सर्जिकल) उपरांत आईयूसीडी, जिसको सरल भाषा में कॉपर-टी कहा जाता है के लिए लाभार्थी को 150-150 रुपये की प्रोत्साहन राशि दी जाती है।

यह भी पढ़ें- होटल के 29 कमरों में आपत्तिजनक हालत में मिले युवक-युवतियां, पुलिस पहुंची तो मच गया भगदड़