स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

देश को जानबूझ कर 70 वर्षों तक गरीब रखा गया-अरविन्द केजरीवाल

Prateek Saini

Publish: May 14, 2019 19:40 PM | Updated: May 14, 2019 19:40 PM

Sangroor

केजरीवाल बोले-संगरूर जीत कर 2022 में पंजाब में बनाओ 'आप' की सरकार

 

(बरनाला,संगरूर): आम आदमी पार्टी (आप) के राष्ट्रीय कनवीनर और दिल्ली के मुख्य मंत्री अरविन्द केजरीवाल ने कांग्रेस और अकाली-भाजपा पर हमला बोलते हुए कहा कि इन्होंने 70 साल जानबुझ कर देश को गरीबी में रखा।

 

संगरूर से 'आप' उम्मीदवार और मौजूदा संसद मैंबर भगवंत मान के लिए चुनाव प्रचार करने बरनाला पहुंचे अरविन्द केजरीवाल आज स्थानीय विधायक मीत हेयर के साथ सुबह शहीद भगत सिंह पार्क में सैर करन पहुंचे, जहां भारी संख्या में लोग इकठ्ठा हो गए। आम लोगों के साथ रू-ब-रू होते अरविन्द केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में 4 सालों की सरकार दौरान किए शानदार कामों के दम पर वह दावा करते हैं कि यदि नीयत और नीतियां सही हों तो 5 सालों में देश और किसी भी राज्य को चमकाया जा सकता है।


केजरीवाल ने बताया कि दिल्ली में दिल्ली सरकार के अधीन आते स्कूलों और सेहत सेवाओं की सूरत बदल दी है। सरकारी स्कूलों के नतीजे 94.4 प्रतिशत रहे हैं। जबकि महंगे-महंगे प्राईवेट स्कूलों का औसतन नतीजा 88 प्रतिशत रहा। इसी तरह हर अमीर गरीब के लिए सरकारी अस्पतालों में टैस्ट और इलाज बिल्कुल मुफ्त है, बेशक 20 लाख रुपए खर्च होते हों। 20 हजार लीटर पानी मुफ्त और बिजली एक रुपए प्रति यूनिट मुहैया करवाई जा रही है। इसी दौरान लोगों ने बताया कि पंजाब में सरकारी स्कूल खत्म कर दिए हैं और बिजली औसतन 10 रुपए प्रति यूनिट मिल रही है।

 

केजरीवाल ने बताया कि दिल्ली में उन 10 हजार गलियों, सडक़ों और पानी की पाईपों का काम एक साथ शुरू किया है, जिस को तीन सालों में पूरा कर दिया जायेगा। उन्होंने बताया कि उनकी सरकार ने दिल्ली के व्यापारियों और कारोबारियों के लिए बहुत काम किए हैं और इंस्पैक्टर राज का खात्मा करके 'रेडें' बंद करवा दी हैं। दिल्ली सरकार ने दुकानदारों के हक में सीलिंग का विरोध किया और मायापूरी समेत कई इलाकों को सीलिंग बंद करवा दी।

 

केजरीवाल ने बरनाला के लोगों को गुजारिश की है कि वह जब भी दिल्ली आएं तो दिल्ली सरकार के स्कूल और अस्पताल जरूर देख कर आएं। लोगों की तरफ से किए गए सवालों का जवाब देते बताया कि देश के लिए खतरनाक मोदी-अमित शाह की जोड़ी को रोकने के लिए वह चाहते थे कि दिल्ली, हरियाणा और चण्डीगढ़ की सीटों पर कांग्रेस के साथ समझौता हो जाए, क्योंकि मोदी-अमित शाह ने नोटबन्दी, जीएसटी जैसे अनेकों घातक फैसले लेने के साथ-साथ भाईचारक सांझ तोड़ी और संप्रदायकता के आधार पर नफरत पैदा की।

 

केजरीवाल ने संगरूर से भगवंत मान को पहले की तरह भारी बहुमत से जिताने की अपील करते कहा कि वह विजयी होने के उपरांत 2022 में पंजाब जितना है। 2017 में सरकार क्यों नहीं बनी? सवाल के जवाब में केजरीवाल ने कहा कि इन्होंने एकजुट हो कर 'आप' खिलाफ साजिशें की।