स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

Exclusive: यूपी के इस शहर में मदरसों में छात्रों को कराया जा रहा वन्देमातरम और गायत्री मन्त्र का अभ्यास

Jai Prakash

Publish: Jul 23, 2019 21:34 PM | Updated: Jul 23, 2019 21:33 PM

Sambhal

मुख्य बातें

  • संभल में एक मदरसे में अब छात्रों को वन्देमातरम का अभ्यास कराया जा रहा है
  • गायत्री मन्त्र का उच्चारण भी सिखाया जा रहा है
  • मदरसा संचालक ने इसको लेकर लोगों में गलत धारणा को जिम्मेदार ठहराया है

 

 

संभल: एक ओर मदरसों में वन्देमातरम गाने को लेकर देश भर में अलग-अलग बहस जारी है। वहीँ संभल में एक मदरसे में अब छात्रों को न सिर्फ वन्देमातरम का अभ्यास कराया जा रहा है। बल्कि गायत्री मन्त्र का उच्चारण भी सिखाया जा रहा है। मदरसा संचालक ने इसको लेकर लोगों में गलत धारणा को जिम्मेदार ठहराया है। उनके मुताबिक इससे इस्लाम में कहीं कोई दिक्कत नहीं लोग इसे बिना वजह राजनीतिक रंग दे रहे हैं।

बागपत पुलिस को मिली बड़ी सफलता, 19 पेटी शराब के साथ तस्कर गिरफ्तार

वन्देमातरम से होती है शुरुआत
संभल के हयात नगर में चल रहे मोहम्मद अली जौहर मदरसे में सुबह सुबह वंदे मातरम के साथ साथ गायत्री मंत्र का जाप गूंज रहा है। मदरसे में पहुंचने के बाद पढ़ने वाले बच्चे अपने दिन की शुरुआत वंदे मातरम गीत और गायत्री मंत्र के उच्चारण के साथ करते हैं। मदरसे के बच्चोँ को गायत्री मंत्र कंठस्त भी हो चुका है। भारत माता की जय और देश के अमर शहीदों की जय के नारे बच्चों से लगवाए जाते हैं। मदरसे के छात्र व छात्राओं ने बताया कि मदरसे में सुबह आकर वंदेमातरम गीत, गायत्री मंत्र के साथ साथ कुरान की आयतें गाकर अपने दिन की शुरुआत करते हैं। छात्र मोहम्मद असद खान ने बताया कि उन्हें मदरसे में वन्देमातरम में कोई दिक्कत नहीं है।

AVBP के छात्रों ने LR COLLEGE के अंदर स्टाफ को बनाया बंधक

विरोध है गलत
मदरसा संचालक फिरोज खान ने बताया कि बच्चों को तालीम देने के उद्देश्य से स्थापित किये गए मोहम्मद अली जौहर मदरसा के संचालक के अनुसार मदरसे में प्रतिदिन वन्दे मातरम गीत के साथ गायत्री मंत्र इसलिये कराया जाता है। जिससे बच्चों को अपने देश के विभिन्न धर्मों भाषाओं और ग्रन्थों का ज्ञान हो सके। और जो लोग वन्दे मातरम का विरोध करते हुए राजनीति करते हैं। उन्हें इस्लाम का ही ज्ञान नहीं है। ज्ञान इल्म के लिए कहीं भी जाया जा सकता है और अनाथ वो नहीं जिसके मा बाप नहीं अनाथ वो है जिसे इल्म ज्ञान नहीं है।

 

15 दिन का विशेष अभियान
15 दिन के विशेष अभियान के तहत सुबह सुबह मदरसे में पहुंचे विश्व हिंदू परिषद के कार्यकर्ता पदाधिकारियों ने अपने सामने वंदेमातरम और गायत्री मंत्र का गान मदरसे में पढ़ रहे बच्चों से कराया। वहां मौजूद मदरसा संचालक द्वार भारत माता की जय देश के अमर शहीदों की जय के नारे भी गूंजे। विश्वहिंदू परिषद संभल के अध्यक्ष अजय शर्मा बताया कि 15 जुलाईं से 15 अगस्त तक एक अभियान के तहत हर स्कूल मदरसे में जाकर वहां वन्दे मातरम का अर्थ, भावार्थ और महत्व बताया जाएगा। जो वन्दे मातरम के बारे जो भृम फैलाते हैं उनसे सतर्क रहें।