स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

21 मामले दर्ज थे तीनों फरार बदमाशों पर, 20 जुलाई को आना था फैसला

Jai Prakash

Publish: Jul 18, 2019 10:46 AM | Updated: Jul 18, 2019 10:49 AM

Sambhal

मुख्य बातें

  • हत्या और अपहरण के मामले में बीस जुलाई को फैसला आना था
  • पुलिस टीमें तीनों की धड़पकड़ के लिए रात भर से अभियान चला रही हैं
  • वैन में उस वक्त 24 बंदी थे

संभल: बुधवार शाम को जनपद के थाना बनियाठेर क्षेत्र में पेशी से लौट रहे बंदी वाहन से तीन कैदी दो सिपाहियों की हत्या कर फरार हो गए,जिनका अभी तक सुराग नहीं लग सका है। वहीँ अब जांच में सामने आया है कि तीनों को हत्या और अपहरण के मामले में बीस जुलाई को फैसला आना था। लेकिन सजा की आशंका को देखते हुए तीनों उससे पहले ही फरार हो गए। पूरे जोन की पुलिस टीमें तीनों की धड़पकड़ के लिए रात भर से अभियान चला रही हैं।

Breaking: Sambhal में दो पुलिसवालों की हत्‍या के बाद Ghaziabad Police ने मार गिराया एक लाख का इनामी डकैत- देखें वीडियो

इतने मामले हैं दर्ज
संभल पुलिस के मुताबिक मुल्जिम कमल पुत्र जंगबहादुर निवासी रम्पुरा थाना बहजोई जनपद सम्भल पर मु0अ0सं0 438/14 धारा 328/364ए भादवि, शकील पुत्र नूर मोहम्मद निवासी रम्पुरा थाना बहजोई जनपद सम्भल पर मु0अ0सं0 438/14 धारा 328/364 ए भादवि, धर्मपाल पुत्र देशराज निवासी भरतपुर थाना बहजोई जनपद सभल पर मु0अ0सं0 63/11 धारा 392/120बी भादवि थाना इस्लामनगर पर पंजीकृत है। इन तीनों ने 2014 में कुन्दरकी निवासी एक इंजीनियर का अपहरण कर उसके परिवार से बीस लाख फिरौती मांगी थी। जिसके मामले में बीस जुलाई को फैसला आना है। समझा जा रहा है कि इसी के चलते इन तीनों ने साजिश कर इस बड़ी वारदात को अंजाम दिया है।

Police Encounter Effectः अब बदमाशाें से नहीं डर रही Public सहारनपुर में चेन स्नैचर काे भीड़ ने दाैड़ा-दाैड़ाकर पीटा
ऐसे हुए थे फरार
आईजी रमित शर्मा के मुताबिक वैन में उस वक्त 24 कैदी थे, मृतक सिपाही ब्रजपाल और हरेन्द्र पर तीनों बदमाशों ने मिर्ची पाउडर डाला था और फिर उन पर फायर किये। अन्य बंदियों के मुताबिक दोनों सिपाहियों ने पूरी कोशिश की लेकिन गोली लगने के कारण वे सफल नहीं हो पाए। वैन में एक सब इंस्पेक्टर और एक हेड कांस्टेबल के अलावा ड्राईवर भी मौजूद थे। ये लोग सिपाही की रायफल भी लूट कर ले गए हैं।