स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

सिपाहियों की हत्या का मामला: एडीजी का बड़ा बयान, बोले आरोपियों को उन्हीं की भाषा में दिया जाएगा जवाब

Jai Prakash

Publish: Jul 18, 2019 18:46 PM | Updated: Jul 18, 2019 18:46 PM

Sambhal

मुख्य बातें

  • बंदी वैन पर हमला कर तीन बदमाश भाग गए थे
  • दो सिपाहियों की हत्या कर उनकी सरकारी रायफल लूट ले गए थे
  • जल्द ही सफलता मिलने की उम्मीद जताई

संभल: बुधवार शाम बनियाठेर थाना क्षेत्र में पेशी से वापस लौट रही बंदी वैन पर हमला कर तीन बदमाश भाग गए थे और दो सिपाहियों की हत्या कर उनकी सरकारी रायफल लूट ले गए थे। लेकिन अभी तक इन बदमाशों का सुराग नहीं लग सका है। जबकि उनकी धड़पकड़ के लिए आईजी एसटीएफ समेत खुद एडीजी बरेली जोन अविनाश चन्द्र कैम्प किये हुए हैं। एडीजी ने कहा कि जो उन्होंने किया है उन्हें उन्हीं की भाषा में जवाब दिया जाएगा। यही नहीं उन्होंने जल्द ही सफलता मिलने की उम्मीद जताई और बताया कि उनके द्वारा तीनों बदमाशों पर एक लाख रूपए का ईनाम शासन से अलग दिया जाएगा।

VIDEO: पुलिस ने मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार किए दो इनामी बदमाश

ये था मामला
यहां बता दें कि सिपाही ब्रजराज और हरेन्द्र की चंदौसी थाना क्षेत्र में उस समय मुरादाबाद हाइवे पर गोली मारकर हत्या कर दी गयी थी। जब वे बुधवार शाम करीब पांच बजकर बीस मिनट पर 24 कैदियों को कैदी वाहन से वापस मुरादाबाद जेल ले जा रहे थे। तभी वैन में मौजुद बदमाश कमल बहादुर पुत्र जंग बहादुर, शकील पुत्र नूर मोहम्मद और धर्मपाल पुत्र देश राज ने इन दोनों पर ताबड़तोड़ गोलियों की बौछार कर दी और उनकी रायफल लूटकर फरार हो गए थे।

 

24 घंटे बाद भी नहीं सफलता
सिपाहियों की हत्या और इस तरह की वारदात से शासन तक हडकंप मच गया था। पूरे जोन की पुलिस फ़ोर्स के साथ ही आई जी रमित शर्मा, एडीजी अविनाश चन्द्र, मुरादाबाद एसएसपी अमित पाठक और तेज तर्रार एसपी रामपुर अजयपाल शर्मा भी अपनी टीमों के साथ तीनों फरार बदमाशों की पकड़ के लिए लगे हैं। लेकिन अभी तक सफलता मिल नहीं पाई है। एसटीएफ आई जी अमिताभ यश भी अपनी टीम के साथ संभल में कैम्प किये हैं। उन्होंने आज घटना स्थल व बदमाशों के भागने की लोकेशन के साथ कई जगह चेक की। लेकिन अभी कोई सुराग नहीं लगा है।