स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

इंटर आर्ट्स टॉपर गणेश गिरफ्तार, प्राचार्य और सचिव फरार

Shribabu Gupta

Publish: Jun 05, 2017 12:06 PM | Updated: Jun 05, 2017 12:06 PM

Samastipur

बिहार बोर्ड का रिजल्ट आने के बाद इंटर आर्ट्स की परीक्षा में टॉप पर रहे गणेश कुमार को गिरफ्तार कर लिया गया है...

समस्तीपुर। बिहार बोर्ड का रिजल्ट आने के बाद इंटर आर्ट्स की परीक्षा में टॉप पर रहे गणेश कुमार को गिरफ्तार कर लिया गया है। उम्र छिपाकर दोबारा परीक्षा देने के आरोप में गणेश की गिरफ्तारी के बाद उसके कॉलेज के प्राचार्य व सचिव भी फरार हो गए हैं। न तो उनका मोबाइल ऑन है और न ही वे घर पर किसी को मिल रहे हैं।

जानकारी के अनुसार गणेश ने ताजपुर के चकहबीब स्थित रामनंदन सिंह जगदीप नारायण इंटर कॉलेज से इंटर आर्ट्स की परीक्षा दी थी। इधर, कॉलेज में भी दोनों शनिवार को एक बार भी नहीं गए।

कॉलेज में किसी कर्मचारी के भी दर्शन नहीं हुए। दूसरी ओर गणेश की गिरफ्तारी के बाद आसपास के लोगों में दिनभर इस बात के लिए कौतूहल बना रहा कि पटना की कोई टीम कॉलेज में छापेमारी करने आएगी। इसको लेकर दिनभर इलेक्ट्रॉनिक व प्रिंट मीडिया के भी कई पत्रकार जमे रहे। हालांकि, देर शाम तक कोई टीम नहीं पहुंची थी। लेकिन मीडियाकर्मियों के साथ ग्रामीणों का भी जमावड़ा लगा रहा।

विदित हो कि शुक्रवार को पटना बुलाकर पूछताछ में उम्र छिपाकर दूसरी बार परीक्षा देने के मामले की पुष्टि होने के बाद बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के निर्देश पर पुलिस ने गणेश को गिरफ्तार कर लिया था। उसकी गिरफ्तारी होने के पूर्व प्राचार्य व सचिव कॉलेज में ही थे। उनका मोबाइल भी चालू था। लेकिन, रात नौ बजे के बाद उनका मोबाइल ऑफ हो गया। उसके बाद से अब तक ऑफ ही है।

शनिवार सुबह पत्रकारों की टोली कॉलेज से लेकर उनके घर तक उनसे बात करने के लिए गयी लेकिन वे नहीं मिले। कॉलेज में छायी वीरानगी पटना में बिहार टॉपर गणेश कुमार की गिरफ्तारी के बाद चकहवीब गांव स्थित राम नन्दन सिंह जगदीप नारायण इंटर कॉलेज के कार्यालय में वीरानगी छा गयी है। कॉलेज में शनिवार को कोई कर्मचारी और शिक्षक तो नहीं ही पहुंचे, आम दिनों में कॉलेज की देखरेख के लिए हमेशा मौजूद रहने वाला गार्ड भी गायब था।

इसको लेकर कौतूहलवश कॉलेज पहुंचे आसपास के ग्रामीणों में तरह-तरह की चर्चा होती रही। किसी का कहना था कि पटना से किसी टीम के आने की सूचना के भय से सभी फरार हैं तो किसी का कहना था कि अपने बचाव के लिए कॉलेज प्रबंधन से जुड़े लोग कानूनी सलाह-मशविरा करने के लिए वरीय वकील के घर का चक्कर लगा रहे हैं।