स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

योजना बनाकर नहीं किया गया काम, अब यात्री हो रहे परेशान, पढ़ें खबर

Anuj Hazari

Publish: Sep 23, 2019 09:30 AM | Updated: Sep 22, 2019 20:36 PM

Sagar

एक नंबर प्लेटफॉर्म पर जाने के लिए नहीं सीधा रास्ता

बीना. रेलवे स्टेशन पर अधिकांश काम बिना किसी योजना के ही किए जाते हैं, जिसके कारण लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ता है। बावजूद इसके रेलवे अधिकारी जरूरी काम को पूरा कराने में रुचि नहीं दिखाते हैं। जिसका खामियाजा सफर करने वाले यात्रियों को भुगतना पड़ता है। दरअसल करीब डेढ़ वर्ष पहले रेलवे स्टेशन पर प्लेटफॉर्म नंबर एक तैयार किया गया। जहां पर यात्री टे्रनों का भी स्टॉपेज है, लेकिन इस प्लेटफॉर्म पर जाने के लिए कहीं से भी सीधी एंट्री नहीं दी गई है। जिस वजह से यात्रियों को बुकिंग ऑफिस के अंदर से होकर प्लेटफॉर्म तक जाना पड़ता है। यदि किसी महिला या बुजुर्ग के लिए एक नंबर प्लेटफॉर्म पर टे्रन आने पर जल्दबाजी में वहां तक जाना होता है तो वह बामुश्किल ही वहां तक पहुंच पाते हैं, क्योंकि उन्हें लंबा चक्कर काटना पड़ता है।
जहां से दी से दी जा सकती थी एंट्री वहां दे दी स्टॉल को जगह
जिस जगह से बाहर से आने वाले यात्रियों को सीधी एंट्री प्लेटफॉर्म पर जाने के लिए दी जा सकती थी वहां से रेलवे अधिकारियों ने स्टॉल खुलवा दी है। जबकि उसे कुछ दूरी पर भी शिफ्ट किया जा सकता था। जिससे आम जन के लिए भी परेशानी नहीं होती।
प्लेटफॉर्म बदलने में होती है ज्यादा परेशानी
यदि किसी यात्री के लिए अन्य प्लेटफॉर्म से एक नंबर प्लेटफॉर्म पर जाना हो या फिर एक नंबर प्लेटफॉर्म से अन्य किसी प्लेटफॉर्म पर जाना हो तो यात्रियों को या तो लाइन पार कर जान जोखिम में डालकर निकलना पड़ता है या फिर लंबा चक्कर काटकर बुङ्क्षकग ऑफिस से निकलकर एफओबी से जाना होता है। जिससे लोगों के लिए परेशानी होती है। इसकी जानकारी स्थानीय अधिकारियों से लेकर मंडल के अधिकारियों के लिए भी है फिर भी सर्कुलर एरिया से प्लेटफॉर्म के लिए सीधा रास्ता नहीं दिया गया है।