स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

यहां रोस्टर के बाद भी ड्यूटी करने नहीं पहुंची महिला डॉक्टर, पढ़ें खबर

Anuj Hazari

Publish: Sep 19, 2019 09:30 AM | Updated: Sep 18, 2019 20:41 PM

Sagar

सप्ताह में तीन दिन लगी ड्यूटी, एक भी दिन हीं पहुंची अस्पताल

बीना. सिविल अस्पताल में ओपीडी समय के बाद महिला चिकित्सकों की इमरजेंसी ड्यूटी रोस्टर के अनुसार लगाई गई है, लेकिन एक महिला डॉक्टर पिछले तीन दिन से रोस्टर के अनुसार ड्यूटी लगी होने के बाद भी इलाज करने के लिए अस्पताल नहीं पहुंची, जिसके कारण मरीज परेशान होते रहे। दरअसल सुबह नौ से शाम चार बजे तक ओपीडी समय होने के बाद सोमवार, मंगलवार व बुधवार को डॉ. मंजू कैथोरिया व गुरुवार, शुक्रवार व शनिवार को डॉ. नमिता गर्ग की ड्यूटी रोस्टर के अनुसार लगाई गई है। लेकिन पिछले तीन दिन से शाम चार बजे से रात आठ बजे तक डॉ. मंजू कैथोरिया की ड्यूटी होने के बाद भी वह अस्पताल नहीं पहुंचीं। जिसके कारण इतने समय में आने वाले मरीजों के लिए परेशानी हुई। ग्राम मुडिय़ा देहरा से आए यशवंत पिता कैशाल अहिरवार(12) का पैर साइकल में फंस गया, जिससे उसके पैर में गंभीर चोट आई है, इसके बाद उसके परिजन इलाज के लिए सिविल अस्पताल लेकर आए, लेकिन यहां पर डॉक्टर न होने के कारण इलाज नहीं मिल सका। यहां अन्य स्टॉप ने मरहम पट्टी तो कर दी लेकिन दवाई नहीं मिल सकी। जिससे उन्हें निजी क्लीनिक पर जाना पड़ा।
एमएलसी भी नहीं हुई
शाम करीब साढ़े पांच बजे गांधी वार्ड में हुए एक विवाद के बाद डायल 100 स्टॉफ मीना पति सुनील अहिरवार(35) के लिए सिविल अस्पताल एमएलसी कराने के लिए लेकर आए, लेकिन उनकी एमएलसी भी नहीं की जा सकी। महिला डॉक्टर के अस्पताल नहीं पहुंचने के कारण इसकी शिकायत उच्चाधिकारियों से भी की गई है। इसके बाद सिविल अस्पताल प्रभारी ने पहुंचकर मरीजों का इलाज किया और एमएलसी की।
सीएमएचओ से करेंगे चर्चा
रोस्टर बनाकर ड्यूटी लगाई गई है। बुधवार को महिला डॉक्टर के न पहुंचने पर मेरे द्वारा एमएलसी और इलाज किया गया। महिला डॉक्टर के ड्यूटी पर न आने की शिकायत सीएमएचओ से करेंगे।
डॉ. आरके जैन, प्रभारी, सिविल अस्पताल