स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

जब कलेक्टर के सामने पहुंचा मूक बधिर युवक फिर ये हुआ

Shashikant Dhimole

Publish: Sep 18, 2019 09:00 AM | Updated: Sep 17, 2019 20:57 PM

Sagar

जनसुनवाई में 275 आवेदकों की समस्याएं सुन कर दिए निराकरण के निर्देश

सागर. कलेक्टर की जन-सुनवाई में मंगलवार को एेसा नजारा देखने को मिला जब एक मूक बधिर युवक कलेक्टर प्रीति मैथिल के सामने आया। सागर निवासी दिनेश कुमार मिश्रा ने जब इशारों में अपनी व्यथा बताना शुरु किया तो काई कुछ समझ नहीं पा रहा था। इस दौरान अंध मूक-बधिर शाला के शिक्षक चन्द्रहास पटेल ने दिनेश की बात को कलेक्टर को बताई। दिनेश ने बताया कि वह बचपन से ही बोल और सुन नहीं सकता, उसके माता-पिता भी नहीं हैं, इसके बावजूद उन्होंने कक्षा आठवीं तक की शिक्षा पूर्ण की है। हाथों के इशारों और हाव-भाव से दिनेश दिनेश ने कहा कि उन्होंने अपना पंजीयन रोजगार कार्यालय में कराया है लेकिन बेरोजगार है। दिनेश ने चौकीदार, माली जैसे कार्य करने की इच्छा जताई जिस पर कलेक्टर प्रीति मैथिल नायक ने रोजगार देने का आश्वासन दिया।

व्हीलचेयर एवं श्रवण यंत्र प्रदान किए

जन-सुनवाई में नि:शक्त पार्वती कुर्मी ने बताया कि उनकी व्हील चेयर खराब हो गई है जिस पर उसे नई व्हील चेयर दी गई। इसी प्रकार गौरझामर निवासी हेमंत विश्वकर्मा ने बधिर होने की समस्या बताई जिस पर सुन नहीं पाते। विश्वकर्मा को विभाग ने श्रवण यंत्र प्रदान किया। जन-सुनवाई में कलेक्टर मैथिल एवं डिप्टी कलेक्टर अमृता गर्ग ने जिले के दूरदराज क्षेत्र से आए 275 से अधिक आवेदकों की समस्याएं सुनकर उनके निराकरण के लिए संबंधित विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया।