स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

तहसीलदार द्वारा जारी दुकानें हटाने के नोटिस पर ग्रामीण व्यापारी लामबंद हुए

Samved Jain

Publish: Sep 18, 2019 17:30 PM | Updated: Sep 18, 2019 17:30 PM

Sagar

कार्रवाई रुकवाने पहुंचे कलेक्ट्रेट, रनेह ग्राम पंचायत का मामला, हटा तहसीलदार द्वारा आधा सैकड़ा दुकानदारों को दुकानें हटाने दिए हैं नोटिस

दमोह/ रनेह. कलेक्टर जनसुनवाई में रनेह गांव के करीब दो दर्जन से अधिक दुकानदार पहुंचे। इन्होंने तहसीलदार द्वारा दुकानें हटाई जाने के लिए दिए गए नोटिस पर कार्रवाई नहीं किए जाने की मांग की। दुकानदारों का कहना है कि वह वर्षों से अपने टीन के टपरे रखकर गड़ूआ बाजार में व्यवसाय कर रहे हैं। इस स्थान के अलावा गांव में कहीं भी सरकारी जगह नहीं है जहां पर दुकानें संचालित हो सकें। लेकिन इन दुकानों को हटाने के लिए तहसीलदार द्वारा नोटिस दिए गए हैं।

दुकानदारों ने बताया है कि 18 सितंबर को तहसील कार्यालय हटा में उपस्थित होने के लिए बुलाया गया है। दुकानदारों का कहना है कि जहां पर वह वर्षों दुकानें संचालित कर रहे हैं यहीं पर सरकारी दुकानें बना दीं जाएं जिसकी राशि वह देने को तैयार हैं और किराया भी देंगे जिससे उनके व्यवसाय समाप्त न हो और परिवार का पालन पोषण कर सकें। दुकानदारों द्वारा दिए गए इस आवेदन पर कलेक्टर द्वारा उन्हें एसडीएम हटा के समक्ष पेश होने के लिए भेजा है। बताया गया है कि दमोह कलेक्ट्रेट आए आवेदक हटा एसडीएम कार्यालय पहुंचे और एसडीएम को एक ज्ञापन सौंपकर कार्रवाई की मांग की है। वहीं दुकानदार अपनी समस्या को लेकर क्षेत्रीय विधायक पीएल तंतुवाय के पास भी पहुंचे थे।