स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

पानी, भवन और चौकीदार का वेतन भी खा गया सरपंच पति

Vishnu Kumar Soni

Publish: Sep 23, 2019 10:00 AM | Updated: Sep 23, 2019 00:13 AM

Sagar

सागौनी बुंदेला पंचायत में विभिन्न मदों से राशि आहरित,काम कुछ भी नहीं

रहली. सागौनी बुंदेला पंचायत भ्रष्टाचार एवं अनिमितताओं का गढ़ बन चुकी है। शासकीय योजनाओं की राशि निकालना तो जैसे सरपंच, सचिव के लिए खेल हो गया है। पंचायत में पांच गांव छेवला, रकगढ़ा, सागौनी, सर्रा कला, किशुनगढ़ शामिल है। पोर्टल में जानकारी देखी जाए तो यहां अत्याधिक निर्माण एवं विकास कार्य हुए हैं। मौके पर जा कर देखा जाए तो कुछ नहीं हुआ है।
सरपंच पति के कारनामें
सरपंच सविता बाई के पति परमेश्वर राजकुमार पटैल द्वारा सभी पंाच गावों में पंचायत द्वारा पेयजल सप्लाई के नाम पर 14मई 2019 को 40 हजार की राशि निकाली गई, लेकिन एक भी गांव में पानी की सप्लाई नही हुई है।
किसी भी गांव में नलजल योजना शुरू नही है। कागजों के अनुसार पंचायत में भृत्त एवं चौकीदार का वेतन प्रतिमाह निकाला जाता है, लेकिन यहां कई बार सचिव को पंचायत में झाडू लगाते देखा गया है। पंचायत के निर्वाचित पंचों का मानदेय भी एकमुस्त 12 माह का निकाला जाता है, लेकिन किसी को दिया नहीं जाता। पंचायत भवन की रिपेयरिंग के नाम पर 90 हजार निकाले। ग्राम सर्रा कला में महिला एवं बालविकास विभाग द्वारा करीब 8 लाख रुपए की राशि आगनबाड़ी भवन के लिए स्वीकृत की गई थी। पोर्टल पर इसमें से 6 मई को 1.35 लाख ईट, गिट्टी, रेत के नाम पर एवं 60 हजार 7 मई को सीमेंट के नाम पर निकाले गए। जबकि सर्रा कलां में ना तो आंगनवाड़ी भवन का निर्माण हुआ है और ना मटेरियल नजर आता है।
इसकी शिकायत भी महिला बालविकास विभाग द्वारा की गई है। ग्रामीणों ने बताया कि जिस प्रकार से पोर्टल पर राशि की निकासी हुई है। उसके हिसाब से जांच हो जाए तो सागौनी बुंदेला भ्रष्टाचार के मामले में प्रदेश की नंबर 1 पंचायत बनेगी।
एसडीएम सीएल वर्मा ने बताया कि मामला जनपद पंचायत का है सीईओ से इस संबंध में पूरी जानकारी सोमवार को लेगें और सभी विषयो पर पंचायत की जांच की जाएगी और दोषियो पर कार्रवाई एवं यदि गलत राशि आहरित की है तो उसकी वसूल भी की जाएगी।