स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

बेटे को ले जाने माता-पिता के पास नहीं थे रुपए, चंदा करके ले गए घर, पढ़ें खबर

Anuj Hazari

Publish: Aug 19, 2019 10:00 AM | Updated: Aug 18, 2019 21:16 PM

Sagar

शनिवार को ट्रेन से गिरकर हुई थी मौत

बीना. शनिवार को ट्रेन से गिरकर घायल हुए एक युवक की इलाज के अभाव में मृत्यु हो गई, जिसकी मृत्यु के बाद उसके माता-पिता को सूचना देकर बुलाया गया, लेकिन उनके पास शव घर ले जाने के लिए भी रुपए नहीं थे। लोगों ने चंदा करके उसका शव घर पहुंचाया। टीटू पिता लालाराम गुप्ता (25) निवासी मैनपुरी यूपी जो भोपाल में मजदूरी का काम करता है जो शनिवार को घर जा रहा था, लेकिन वह ट्रेन से बीना-झांसी लाइन पर गिर गया, जिसे आरपीएफ ने सिविल अस्पताल में भर्ती कराया, लेकिन चोटें ज्यादा होने के कारण उसे डॉक्टर ने बीएमसी रेफर किया था और आरपीएफ के जवान में उसेक जाने से मना कर दिया था, जिससे उसकी इलाज के अभाव में मौत हो गई। टीटू ने मरने से पहले पिता का मोबाइल नंबर बताया जिसपर फोन लगाकर परिजनों को बीना बुलाया, लेकिन उन्हें यह पता नहीं था कि उनका बेटा अब इस दुनिया में नहीं है। माता-पिता जब अस्पताल में पहुंचे तो देखा कि उनका बेटा मर चुका है, जिसे देख उनके आंसू नहीं रुके। माता-पिता के पहुंचने के बाद पुलिस ने मृतक का पीएम कराया, लेकिन इसके बाद शव को ले जाने के लिए मृतक के माता-पिता के पास इतने रुपए नहीं थे। जिसके बाद लोगों ने चंदा करके शव को उसके घर पहुंचाया।