स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

एक साल बाद होंगे मकरोनिया नगर पालिका के चुनाव, परिसीमन के साथ सीमा विस्तार भी संभव

Madan Gopal Tiwari

Publish: Sep 23, 2019 07:01 AM | Updated: Sep 22, 2019 22:53 PM

Sagar

साधारण सम्मेलन में परिसीमन के लिए मिल चुकी है परिषद की अनुमति, सर्वे की शुरूआत कब से यह जिम्मेदारी नपा प्रबंधन की सीमा विस्तार के लिए पहले ही शासन को तीन नए गांव को जोडऩे के लिए भेजा जा चुका है प्रस्ताव

 

सागर. नगर पालिका मकरोनिया के आम चुनाव होने के लिए अभी पूरा एक साल बाकी है। एेसे में परिसीमन के साथ तो नगर पालिका के वार्डों की संख्या बढ़ाई ही जा सकती है, साथ ही एक साल का समय होने के कारण सीमा विस्तार की संभावनाओं से भी इनकार नहीं किया जा सकता है। सीमा विस्तार के लिए नगर पालिका करीब डेढ़ साल पहले शासन के लिए प्रस्ताव भी भेज चुका है। एेसे में यदि शासन ने सीमा विस्तार की अनुमति दी तो उपनगर का दायरा तीन-तीन किलो मीटर तक बढ़ सकता है।

परिसीमन में अभी लगेगा समय

मकरोनिया के वर्तमान 18 वार्डों को परिसीमन कर बढ़ाने को लेकर भी परिषद ने अपनी स्वीकृति दे दी है। हालांकि इस काम को शुरू होने में अभी समय लग सकता है। नगर पालिका अध्यक्ष सुशीला रोहित ने बताया कि क्षेत्र में कुछ वार्ड एेसे हैं जो बड़े हैं और परिसीमन के बाद वार्डों की संख्या बढ़ सकती है। हालांकि कितने वार्ड बढ़ सकते हैं यह स्थिति सर्वे होने के बाद ही स्पष्ट होने की बात कही जा रही है।

बढ़ जाएगी वोटर की संख्या
मकरोनिया, रजाखेड़ी, गंभीरिया, बड़तूमा व सेमराबाग पंचायत से बनी नगर पालिका की आबादी 2011 की जनगणना के आधार पर 6२ हजार के करीब है, लेकिन यहां वर्तमान की स्थिति में आबादी डेढ़ लाख के करीब बताई जा रही है। नगर पालिका ने करीब डेढ़ साल पहले सीमावर्ती 3 पंचायतों बहेरिया, सिद्गुंवा व सिरौंजा को मकरोनिया नपा में शामिल करने का प्रस्ताव तैयार कर सीमा विस्तार के लिए शासन को भेज दिया था। यदि सीमा विस्तार के साथ नगर पालिका में यह नई तीन पंचायतें जुड़ती हैं तो नगर पालिका के करीब 10 हजार वोटर बढऩे की संभावना है।

तो नपा के पास होंगे उद्योग और एजुकेशन हब
1- सिद्गुंवा क्षेत्र मास्टर प्लान-2031 के तहत निवेश इकाई क्रमांक-6 में आता है। इस क्षेत्र को औद्योगिक क्षेत्र के रूप में चिन्हित किया गया है, यानी यहां पर सागर शहर में संचालित सभी उद्योगों को विस्थापित किया जाएगा। यह क्षेत्र यदि मकरोनिया नपा में आया तो उसे आय की दृष्टि से फायदा होगा।

2- सिरोंजा क्षेत्र को एजुकेशन हब के रूप में चिन्हित किया गया है। इसका मतलब यह है कि यदि कोई भी शैक्षणिक संस्थान सरकारी या निजी खोला जाना है तो उसे सिरोंजा में ही जगह दी जाएगी। मकरोनिया नगर पालिका के लिए यह क्षेत्र में एक बड़ी राशि जुटाने के लिए काम आएगा।

दो से तीन माह तक का समय लग सकता है

परिसीमन के लिए परिषद की स्वीकृति मिल चुकी है, लेकिन इसमें अभी दो से तीन माह तक का समय लग सकता है। सीमा विस्तार के लिए हमने पहले ही शासन को प्रस्ताव भेज दिया है, वह निर्णय अब शासन स्तर पर ही होगा।
सुशीला रोहित, नपाध्यक्ष, मकरोनिया