स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

6 माह और 20 नलजल योजनाएं जानिए क्या है माजरा

Shashikant Dhimole

Publish: Sep 18, 2019 08:02 AM | Updated: Sep 17, 2019 20:41 PM

Sagar

संभाग में स्थापित होना थीं 94 नलजल योजनाएं, अब तक महज 20 ही पूर्ण, इंदिरा गृह ज्योति योजना में 2 हजार से ज्यादा ट्रांसफार्मर असफल, कमिश्नर की बैठक में तथ्य उजागर, व्यवस्था बनाने के निर्देश।

 

सागर. संभाग के ग्रामीण अंचलों में पेयजल की समस्या को हल करने के लिए वर्ष 2019-20 में करीब सौ नलजल योजनाएं को स्थापित किया जाना था, लेकिन ६ माह गुजरने के बाद अब तक महज 20 योजनाएं ही पूर्ण हो सकी हैं। यह तथ्य मंगलवार को पीएचई की संभागीय बैठक में उजागर हुए। इसको लेकर संभागायुक्त आनंद कुमार शर्मा ने कार्य में तेजी व असफल योजनाओं के स्थान पर वैकल्पिक व्यवस्था करने के निर्देश दिए हैं। कमिश्नर शर्मा ने कहा कि हैण्डपंपों में डिसइन्फेक्शन के लिए क्लोरीनेशन किया जाए। वर्षा ऋतु में जल जनित बीमारियों को लेकर चिकित्सा विभाग अमले से लगातार संपर्क में रहने को कहा। बैठक में मौजूद ईई एलपी सिंह ने बताया कि क्लोरीनेशन का कार्य पूरा हो चुका है। संभाग में कुल 50417 हैंण्डपंप हैं, जिसमें से 49399 हैण्डपंप चालू हैं।

2826 ट्रांसफार्मर बदले

बैठक में एमपीईबी के सीई जीपी सिंह ने बताया कि इंदिरा गृह ज्योति योजना, इंदिरा किसान ज्योति योजना के तहत वित्तीय वर्ष 2019-20 में संभाग में स्थापित वितरण ट्रांसफार्मरों की संख्या 55228 है जिसमें से २९१२असफल ट्रांसफार्मर हैं। जबकि 2826 ट्रांसफार्मर बदले हैं।