स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

बारह एकड़ से ज्यादा सरकारी जमीन पर चल रहे अवैध ईंट भट्टे, पढ़ें खबर

Anuj Hazari

Publish: Jan 23, 2020 21:19 PM | Updated: Jan 23, 2020 21:19 PM

Sagar

अतिक्रमण हटाने की दरकार, संचालक भट्टों से कमा रहे लाखों

बीना. शहर सहित ग्रामीण क्षेत्रों में जो ईंट सप्लाई की जाती है उसमें से अधिकांश ईंट सप्लाई किर्रावदा गांव में लगे अवैध भट्टों से होती है, जिससे राजस्व का भी नुकसान हो रहा है और मिट्टी खोद देने के कारण वहां से निकले नाले का स्वरूप बदल रहा है। जिसके कारण बारिश के दिनों में पानी गांव में भरने लगता है, लेकिन यहां पर प्रशासन की ओर से कार्रवाई लगभग शून्य है। गौरतलब है कि पूरे प्रदेश में भू-माफियाओं पर कार्रवाई की जा रही है। जिसके तहत शहर में भी अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई की गई, लेकिन अभी बहुत बड़ा क्षेत्र कार्रवाई हुए बिना ही छूट गया है, जिसमें किर्रावदा गांव का नाम प्रमुखता से सामने आता है। यहां पर दबंगों द्वारा करीब १२ एकड़ से ज्यादा जमीन पर कब्जा करके ईंट भट्टा चलाए जा रहे हैं। भट्टा चलाने वाले लोग वहां से निकले नाले से मिट्टी खोद रहे हैं। इस मिट्टी का उपयोग करने के कारण यहां पर नाले का स्वरूप बदल चुका है, जिससे बारिश में यहां रहने वाले लोगों के घर में पानी भर जाता है। लंबे समय पर यहां पर कार्रवाई की आस लोग लगाए हुए हैं, लेकिन प्रशासन ने आज तक कार्रवाई नहीं की है।
एसडीएम ने मंगवाई रिपोर्ट
अवैध रूप से चल रहे ईंट भट्टों की शिकायत कई बार लोग अधिकारियों से कर चुके हैं, जिसके बाद एसडीएम ने इसकी रिपोर्ट संबंधित अधिकारियों से मांगी है, जिसकी रिपोर्ट प्राप्त होने के बाद ईंट भट्टा संचालकों पर कार्रवाई की जाएगी।
गौचर भूमि पर भी कब्जा
गांव में गौचर भूमि पर भी दबंगों ने कब्जा करके सालों से ईंट भट्टा चला रहे हैं। जबकि शासन ने सालों पहले मवेशियों के लिए गौचर भूमि आवंटित की थी। लेकिन लोगों ने इस पर कब्जा करके निजी लाभ भट्टा से कमा रहे हैं।

[MORE_ADVERTISE1]