स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

कहीं मृत्युभोज बंद हुआ तो कहीं पर तेरहवीं में बांट रहे रिश्तेदारों को पौधे

Vishnu Kumar Soni

Publish: Jul 21, 2019 10:00 AM | Updated: Jul 21, 2019 01:46 AM

Sagar

समाज में आ रहा बदलाव

बंडा. स्थानीय किसानी मुहल्ला स्थित राम भैया सामुदायिक भवन में वरिष्ठ समाजसेवी लक्ष्मण सिंह के स्वर्गवास होने पर श्रद्धांजलि शोकसभा आयोजित की गई, जिसमे जिला समाज संगठन के संरक्षक व पूर्व सांसद शिवराज सिंह लोधी ने इस सौवीं श्रद्धांजलि शोक सभा में कहा कि मृत्युभोज रोकथाम की जो 10 माह पूर्व मुहिम शुरू की गई थी, उसमे समाजजनों एवं युवा वर्ग के सहयोग से सफलता मिली है। उन्होंने इस मौके पर युवाओं से नशामुक्ति पर भी कार्य करने का आहवान किया। संभागीय युवा अध्यक्ष मंजीत सिंह ने कहा कि मृत्युभोज को समाजजन प्रतिष्ठा का सबाल न बनाएं क्योकि अब ये कुरीति समाज के लिए बोझ है, जिससे पूरी तरह से निजात पाना जरूरी है। इस मौके पर बंडा तहसील अध्यक्ष वीरेन्द्र सिंह लम्बरदार, शाहगढ़ तहसील अध्यक्ष दुर्ग सिंह लोधी, जिला उपाध्यक्ष बाबू सिंह लोधी, जिला संगठन मंत्री भूपेंद्र सिंह लम्बरदार, सेवानिवृत्त प्राचार्य बी एल लोधी, डॉ. जयप्रताप सिंह, भाजपा मण्डल अध्यक्ष उमेश जैन, चित्तर सिंह मुडारी, अनुरुद्ध सिंह, पन्ना ठाकुर, डॉ. रामराजा सिंह, वरिष्ठ समाज सेवी कल्याण सिंह गूगरा, बीरबल सिंह खजरा, कल्याण सिंह मगरधा, ऊदल सिंह शेखपुर, प्रताप सिंह, लोकेंद्र सिंह, रामबिहारी महदेले, राजा बाबू सिंह, मेहरवान सिंह, भूपेन्द्र सिंह खारमऊ, मुलायम सिंह, जगबहादुर सिंह, रोहित सिंह, हरीसिंह कमल मम्मा, धनसिंह नरेश मैनपुर, राजा राम सिंह, रघुनाथ सिंह नीमोन, हँसराज सिंह सेसई, कुंदन सिंह, लोकपाल सिंह हनोती, हरदेव सिंह, छत्र सिंह, इमारत सिंह, नन्हे भाई देवपुर सहित सर्व समाज के लोग उपस्थित हुए।
तेरहवीं भोज पर बांटे पौधे

तेरहवीं भोज पर बांटे पौधे
देवरी कलां.व्यक्ति के अंतिम संस्कार के बाद यूं तो उसके परिजन तेहरवीं भोज और अन्य धार्मिक आयोजन संपन्न कराते हैं, मगर सुभाष वार्ड में सौरभ नगरिया ने अपने पिता स्व सुरेंद्र नगरिया की तेरहवीं भोज के साथ उनकी पुण्य स्मृति में वृक्ष भंडारा आयोजित कर लोगों को नि:शुल्क पौधे वितरित किए। तेरहवीं भोज के बाद ग्रामवासियों को पौधे वितरित करते हुए उनके पुत्र सौरभ नगरिया ने कहा कि पौधरोपण एक पुनीत कार्य है इसके माध्यम से हम अपने पूर्वजों की यादो को चिर स्थायी बना सकते है।तेरहवीं में आये लोगों से पौधे भी रोपित करने की अपील की। पौधरोपण की इस मुहिम को सभी नगरवासियों द्वारा सराहा गया। वृक्ष में आम, कंजी, पकरी, पीपल, बरगद सहित अनेकों प्रकार के फलदार और छायादार पौधे वितरित किये गए। इस अवसर पर पौधरोपण के लिए प्रेरित करने के साथ ही पुण्य तिथि आदि अवसरों पर भी पौधरोपण करना और लोगो को पौध दान करने की पहल की गई है।