स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

पंद्रह कर्मचारियों को नहीं मिला दो माह से मानदेय, त्योहार भी रहेगा फीका

sachendra tiwari

Publish: Jan 15, 2020 09:15 AM | Updated: Jan 14, 2020 21:18 PM

Sagar

लेखापाल का चार्ज लेने वाले कर्मचारी ने नहीं किया काम

बीना. सिविल अस्पताल में रोगी कल्याण समिति से कार्य करने वाले पंद्रह कर्मचारियों को दो माह से मानदेय नहीं मिला है, जिससे उनका त्योहार भी फीका रहेगा। यह स्थिति सिविल अस्पताल में लेखापाल का चार्ज लेने वाले कर्मचारी की लापरवाही से बनी हैं।
सिविल अस्पताल में समिति से पंद्रह कर्मचारी पदस्थ हैं, जिसमें पांच सफाई कर्मचारी और दस कर्मचारी सपोर्ट स्टाफ का काम करते हैं। इन कर्मचारियों को नवंबर माह से मानदेय नहीं मिल पाया है, क्योंकि नवंबर में लेखापाल का काम करने वाले कर्मचारी का तबादला हो गया और चार्ज फॉर्मासिस्ट घनेन्द्र सिंह ने लिया था, लेकिन काम नहीं किया है। लेखापाल द्वारा काम न करने के कारण मानदेय रुका हुआ है। मानदेय न मिलने के कारण कर्मचारियों का मकर संक्रांति का त्योहार भी फीका रहने वाला है। अब अस्पताल प्रबंधन द्वारा परामर्शदाता निमित जडिय़ा को लेखापाल का चार्ज देने की तैयारी की जा रही है, जबकि लेखापाल का कार्य नहीं आता है। यदि चार्ज दे भी दिया जाएगा तो भी लेखापाल से संबंधित काम होना संभव नहीं हैं। मानदेय के साथ-साथ लेखापाल से संबंधित अन्य कार्य भी प्रभावित हो रहे हैं। इसके बाद भी प्रबंधन द्वारा शीघ्र ही इसकी कोई व्यवस्था नहीं की जा रही है।
स्थाई लेखापाल की नहीं हो पा रही नियुक्ति
सिविल अस्पताल में लंबे समय से स्थाई लेखापाल का पद नहीं भरा जा रहा है, जिससे अस्थाई तौर में पर व्यवस्था करके काम चलाया जा रहा है। इस संबंध में प्रबंधन का कहना रहता है कि जिले में ही स्थाई लेखापालों की कमी बनी हुई है, जिससे अस्थाई व्यवस्था करनी पड़ती है।
शीघ्र कराएंगे व्यवस्था
लेखापाल का चार्ज जिस कर्मचारी ने लिया है उसने काम नहीं किया है और न ही चैक बुक, रजिस्टर दिया है। अब दूसरे कर्मचारी को चार्ज दिया जाना है और शीघ्र ही कर्मचारियों को मानदेय दिलाया जाएगा। स्थाई लेखापाल जिले में कुछ ही जगहों पर हैं।
डॉ. संजीव अग्रवाल, बीएमओ

[MORE_ADVERTISE1]