स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

किसान के 13 साल के बेटे का अपहरण कर हत्या, गोपाल भार्गव बोले- अव्वल हो गया मध्यप्रदेश

Manish Geete

Publish: Jan 15, 2020 17:33 PM | Updated: Jan 15, 2020 17:34 PM

Sagar

मध्यप्रदेश में फिर एक बच्चे का अपहरण, 30 लाख नहीं दिए तो कर दी हत्या...।

 

 

सागर। मध्यप्रदेश में एक बार फिर बच्चे के अपहरण के बाद हत्या का मामला सामने आया है। सागर जिले में तीन बदमाशों ने 13 साल के बच्चे का अपहरण कर लिया था। उसे छोड़ने के लिए 30 लाख रुपए मांगे गए थे। गरीब किसान यह रकम नहीं दे पाया तो बदमाशों ने बच्चे की बेरहमी से हत्या कर दी।

सागर जिले के सानौधा (खड़ेराभान) में यह घटना हुई है। इस घटना के बाद मध्यप्रदेश विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने कहा है कि सरकार के एक साल में ही मध्यप्रदेश बच्चों के अपहरण में अव्वल हो गया है।

 

[MORE_ADVERTISE1]

यह है मामला
सागर जिले के सानौधा थाना क्षेत्र के खड़ेराभान गांव के एक किसान के 13 साल के बेटे का तीन बदमाशों ने अपहरण कर लिया। उससे 30 लाख फिरौती के रूप में मांगी गई, लेकिन वो नहीं दे सका, तो बदमाशों ने पत्थरों से सिर कुचलकर किसान के बेटे की हत्या कर दी। सोमवार शाम को बदमाश उसका अपहरण कर ले गए थे। एक घंटे बाद ही बदमाशों ने उसके भाई को फोन कर यह रकम मांगी थी। फिरौती मांगे जाने पर परिजन रिपोर्ट लिखवाने थाने पहुंचे, तो सोमवार देर रात पुलिस को इस वारदात की खबर लगी थी। पुलिस के मुताबिक मंगलवार रात को इस बच्चे का शव उसके घर के पास खेत में ही मिला था। उसकी सिर कुचलकर हत्या कर दी गई थी।

 

यहां पढ़ें अपहरण की कहानी: सिर पर पत्थर पटककर पहले अनिकेत की हत्या की फिर मांगी 30 लाख रुपए की फिरौती

 

[MORE_ADVERTISE2]sagar.jpg[MORE_ADVERTISE3]

कमलनाथ सरकार पर बरसे गोपाल भार्गव
इस घटना को लेकर नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने कहा है कि सागर जिले के खड़ेराभान गांव के किसान सुरेश लोधी के नाबालिक बेटे देवेंद्र के अपहरण और फिर हत्या की घटना दिल दहलाने वाली है।सरकार के एक साल में ही मध्यप्रदेश बच्चों के अपहरण के मामले में अव्वल हो गया है। गरीब मां-बाप जब फिरौती की रकम नही दे पाते हैं, तब मासूमों की हत्या कर दी जाती है। भार्गव ने इस संबंध में दो ट्वीट भी किए हैं।

 

तीन लोगों की तलाश
पुलिस के मुताबिक इस मामले में उन्हें तीन संदिग्ध युवकों पर शक है, जिनकी तलाश की जा रही है। काल डिटेल्स के आधार पर आरोपियों के बारे में भी जानकारी मिली है। इसमें तीन युवकों के नाम सामने आए हैं, जो आसपास के ही रहने वाले हैं। फिरौती मांगे जाने के संबंध में भी जांच की जा रही है।

फुल्की खाने गया तभी हो गया अपहरण
पुलिस के मुताबिक सागर जिले के खड़ेराभान निवासी सुरेश लोधी का बेटा अनिकेत सोमवार शाम 7 बजे घर के ही पास एक दुकान पर फुल्की खाने गया था। तभी वहां से वापस नहीं आया। परिजनों ने उसकी काफी तलाश कीष तब अनिकेत के बड़े भाई के पोन पर एक कॉल आया और उसने अनिकेत के अपहरण के बात कही और 30 लाख रुपयों की मांग की। आरोपियों की बात उसने अपने पिता से भी कराई। पिता के नाम पूछने पर बदमाशों ने फोन काट दिया। इसके बाद अनिकेत के परिजन तुरंत सानौधा थाने पहुंचे। अनिकेत आठवीं कक्षा में पढ़ता है।

 

सिर्फ दो एकड़ जमीन
बताया जाता है कि अनिकेत के पिता सुरेश लोधी के पास मात्र दो एकड़ जमीन है। इसी पर खेती-किसानों करके परिवार का पेट पालता है। सुरेश के तीन लड़के और तीन लड़कियां हैं।