स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

सुरक्षा को रख दिया ताक पर, बिना हेलमेट व शेफ्टी बेल्ट के कर रहे कर्मचारी काम

sachendra tiwari

Publish: Sep 23, 2019 09:45 AM | Updated: Sep 22, 2019 20:41 PM

Sagar

मामला ओवरब्रिज के निर्माण का

बीना. झांसी रेलवे गेट पर चल रहे ओवरब्रिज निर्माण के कार्य में सुरक्षा को ताक पर रखकर कर्मचारियों से कार्य कराया जा रहा है, जिससे किसी दिन यहां हादसा हो सकता है। इसके बाद भी यहां विभाग के अधिकारी ध्यान नहीं दे रहे हैं।
ब्रिज के पिलर बनाने का काम चल रहा है और इन पिलर पर कई फीट की ऊंचाई पर कर्मचारी खड़े होकर कार्य कर रहे हैं, लेकिन कर्मचारियों के सिर पर न तो हेलमेट हैं न कमर में शेफ्टी बेल्ट और न ही अन्य कोई सुरक्षा उपकरण। यदि कोई कर्मचारी गलती से नीचे गिर जाए तो उसकी जान भी जा सकती है। इसमें ठेकेदार द्वारा लापरवाही बरती जा रही है। ठेकेदार का ध्यान सिर्फ काम कराने पर ही कर्मचारियों की सुरक्षा का कोई ध्यान नहीं रखा जा रहा है। इस ओर पीडब्ल्यूडी ब्रिज विभाग के अधिकारियों को भी ध्यान देने की जरूरत है।
लोगों की सुरक्षा की भी नहीं चिंता
कर्मचारियों के साथ-साथ वहां से आने-जाने वाले लोगों की सुरक्षा का भी ध्यान कंपनी द्वारा नहीं रखा जा रहा है। बीच रोड पर कई दिनों के गड्ढे खुदे हुए पड़े हैं, लेकिन उन्हें नहीं भरा जा रहा है। बारिश में इन गड्ढों में पानी भर जाता है, जिससे फिर यह गड्ढा दिखाई नहीं देते हैं। इस संबंध में वार्डवासियों ने पिछले दिनों विरोध में भी किया था।
बदल गया है डिवीजन
झांसी गेट पर बन रहे ब्रिज का निर्माण कार्य पहले पीडब्ल्यूडी ब्रिज विभाग सागर द्वारा कराया जा रहा था, लेकिन ठेकेदार की अनियमितताओं के चलते कुछ दिनों पूर्व डिवीजन बदल दिया गया। अब इस ब्रिज का निर्माण ग्वालियर डिवीजन के अंतर्गत हो रहा है।