स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

बिना जांच के रेलवे मदद पर की गई शिकायत की बंद, पढ़ें खबर

Anuj Hazari

Publish: Jan 17, 2020 19:59 PM | Updated: Jan 17, 2020 19:59 PM

Sagar

ट्वीट करके रेल मंत्री, जीएम, डीआरएम से की गई थी शिकायत

बीना. लोगों द्वारा रेलवे के निचले अधिकारियों से की गई शिकायतों का निराकरण नहीं होता है। इसके बाद यात्री ट्वीट करके किसी भी शिकायत को उच्चाधिकारियों तक पहुंचा देते हैं, लेकिन वहां बैठे नुमाइंदे भी शिकायत का निराकरण न करके शिकायत बंद कर देते हैं। ऐसा ही एक मामला बीना-मालखेड़ी सड़क के घटिया निर्माण की शिकायत होने के बाद बिना जांच के शिकायत बंद कर दी गई। गौरतलब है कि कई वर्षों से मालखेड़ी स्टेशन जाने के लिए सड़क बनाने की मांग लोगों द्वारा की जा रही थी, जिसके बाद करीब पांच माह पहले आधी सड़क का निर्माण कर दिया गया था और आधी सड़क का निर्माण पिछले सप्ताह पूरा हुआ है। सड़क का निर्माण भी इस तरह से किया गया है कि वह दो महीने भी चल जाए तो बड़ी बात होगी। इसकी शिकायत एक युवक ने रेल मंत्री पीयूष गोयल, पश्चिम मध्य रेलवे जीएम व भोपाल डीआरएम को ट्वीट करके की थी। जिसके लिए जबलपुर व भोपाल से सुपरवीजन में लिया गया और सड़क के घटिया निर्माण होने पर उसकी जांच कराने का आश्वासन दिया गया, लेकिन सड़क की गुणवत्ता की जांच किए बगैर ही रेलवे ने शिकायत बंद कर दी है। जबकि कार्रवाई न होने तक शिकायत को बंद नहीं किया जा सकता है। इससे यह अंदाजा लगाया जा सकता है कि रेलवे में उच्चाधिकारियों द्वारा शिकायत को नजरअंदाज कर दिया जाता है।
डीआरएम के निरीक्षण के लिए रातों रात तैयार की गई थी सड़क
यह सड़क खुरई गेट से मालखेड़ी स्टेशन के होम सिग्नल तक भोपाल मंडल के अंतर्गत आती है, लेकिन मालखेड़ी स्टेशन जबलपुर मंडल के अंतर्गत आती है, जिसका निरीक्षण करने के लिए शनिवार को डीआरएम आए थे जिन्हें दिखाने के लिए ठेकेदार ने आनन-फानन में रातों रात घटिया सड़क बनाकर तैयार कर दी। जो एक सप्ताह में ही जगह-जगह से उखडऩे लगी है।

[MORE_ADVERTISE1]