स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

९ दिन बाद भी रिपोर्ट न देने पर डीन ने विभागाध्यक्षों को दिया नोटिस

Aakash Tiwari

Publish: Aug 20, 2019 08:03 AM | Updated: Aug 19, 2019 22:27 PM

Sagar

-शासन ने 8 अगस्त को पत्र जारी कर तीन दिन में १० फीसदी आय बढ़ाने संबंधी मांगी थी रिपोर्ट, एक भी विभाग ने अब तक नहीं किया काम शुरू

 

सागर. बुंदेलखंड मेडिकल कॉलेज की आय को १० फीसदी बढ़ाने के लिए शासन ने १२ दिन पहले एक पत्र जारी किया था, लेकिन प्रबंधन ने अभी तक पत्र का कोई जवाब नहीं दिया है। प्रबंधन आय बढ़ाने के लिए मरीजों के उपचार शुल्क में बढ़ोत्तरी करने वाला है। खासबात यह है कि शासन ने ३ दिन में रिपोर्ट मांगी थी, लेकिन प्रबंधन ९ दिन बाद भी रिपोर्ट नहीं भेज सका है। इधर, डीन डॉ. जीएस पटेल ने सभी विभागों के प्रभारियों को नोटिस भेजा है और २१ अगस्त तक हर हाल में रिपोर्ट जमा करने के निर्देश दिए हैं।

बता दें कि बीएमसी प्रबंधन १० फीसदी आय बढ़ाने के लिए जांच, ऑपरेशन, एक्सरे, सोनोग्राफी, बेड चार्ज आदि के शुल्क लागू करने जा रहा है। इस संबंध में डीन ने ८ अगस्त को सभी विभागाध्यक्षों को अपने विभाग की रिपोर्ट देने के निर्देश दिए थे। हालांकि आयुष्मान और बीपीएल कार्डधारी इसके दायरे में नहीं आएंगे। सिर्फ एपीएल वालों से प्रबंधन बढ़ाया जाने वाला शुक्ल वसूल करेगा।
-छुट्टी पर गए अधीक्षक

डीन डॉ. पटेल ने मेडिसिन, सर्जरी, आर्थो, पीडियाट्रिक्स, हड्डी, कैंसर, रेडियोलॉजी, पैथोलॉजी आदि विभागों के एचओडी को निर्देश दिए थे। बताया जा रहा है कि बीएमसी अधीक्षक डॉ. एसके पिप्पल २१ अगस्त तक अवकाश पर हैं। इस वजह से इन विभागों से अभी तक कोई रिपोर्ट नहीं आई है। वहीं, प्रभारी अधीक्षक को इस बारे में कोई जानकारी भी नहीं है।
-यहां फायदा होने की उम्मीद

प्रबंधन की माने तो बीएमसी में एपीएल वाले मरीजों का नॉमीनल चार्ज पर उपचार किया जा रहा है। इसमें कई एेसे भी शामिल हो जाते हैं, जिनके पास बीपीएल और आयुष्मान कार्ड होता है। लेकिन वह नहीं लाते हैं और इसी श्रेणी में अपना उपचार करा लेते हैं। इससे विवि में अनावश्यक खर्च बढ़ता है। यदि यह व्यवस्था बीएमसी में लागू होती है तो चार्ज लगने के डर से पात्र लोग कार्ड लाकर अपना उपचार कराएंगे। इससे आयुष्मान भारत अभियान के तहत उपचार की व्यवस्था का सच भी सामने आ सकेगा।


मेरे पास एक भी विभाग की रिपोर्ट नहीं आई है। मैनें सभी को नोटिस दिए हैं और अधीक्षक के आने के बाद २२ अगस्त को हर हाल में रिपोर्ट देने के निर्देश दिए हैं।

डॉ. जीएस पटेल, डीन बीएमसी