स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

इस बार चार दिन में मनाने होंगे आठ पर्व, जानें किस दिन कौन सा त्योहार

Tanvi Sharma

Publish: Oct 20, 2019 13:00 PM | Updated: Oct 20, 2019 13:08 PM

Religion

छोटी दिवाली और बड़ी दिवाली की पूजा इस बार एक साथ होगी

दिवाली का पर्व पांच दिनों का पर्व होता है। जो कि धनतेरस के दिन से शुरु होकर भाई दूज पर खत्म होता है। हर दिन तिथि अनुसार पर्व मनाये जाते हैं। लेकिन इस बार दिवाली पर बहुत ही बड़ी खगोलीय घटना होने जा रही है। जिसके अनुसार इस बार चार दिन में आठ पर्व पड़ेंगे।

 

पढ़ें ये खबर- दिवाली की पूजा में बहुत जरुरी हैं ये चीजें, एक भी छुटी तो नाराज हो जाएंगी देवी लक्ष्मी

 

ज्योतिषियों के अनुसार ऐसी घटना पूरे 50 सालों बाद हो रही है। इन्हीं के बीच खास बात है कि इस बार छोटी और बड़ी दिवाली भी एक ही दिन पड़ रही है। इसके अलावा आइए जानते हैं कौन-कौन से पर्व इस बार एक साथ पड़ रहे हैं।

 

lakshami_puja.jpg

पंडित जी के अनुसार इस बार प्रतिपदा तिथि का लोप है और यही कारण है कि छोटी दिवाली और बड़ी दिवाली की पूजा एक साथ होगी। जो कि ज्योतिष के अनुसार बहुत ही शुभ और बड़ी घटना है। यह चंद्रमा और सूर्य की गति बदलने और नक्षत्रों के कारण त्योहारों में परिवर्तन होता है।

 

पढ़ें ये खबर- इस बार पड़ रहे दो पुष्य नक्षत्र, सोना-चांदी के साथ वाहन, प्लॉट खरीदने के लिये शुभ

diwali01.jpg

पंडित रमाकांत मिश्रा के अनुसार इस बार पांच दिन पर्व भी चार दिन में ही पड़ेंगे बल्कि, चार दिनों में आठ पर्व भी पड़ेंगे। जी हां, पंडित जी ने बताया कि इस बार 26 अक्टूबर को यम दीपक, हनुमान जयंती और धनवंतरी जयंती के तीन पर्व एक ही दिन पड़ेंगे और मनाये जाएंगे।

27 अक्टूबर, रविवार के दिन दिवाली मनाई जाएगी लेकिन आपको बता दें की इस बार नरक चतुर्दशी भी इसी दिन पड़ रही है। यानी रविवार 27 अक्तूबर के दिन छोटी दीवाली यानी नरक चतुर्दशी और दिवाली यानी लक्ष्मी पूजा के ही दिन मनाई जाएगी।

वहीं 28 अक्टूबर, सोमवार के दिन गोवर्धन पूजा और अन्न कूट है। इसी के साथ सोमवती अमावस्या का लक्खी स्नान भी किया जाएगा।

पंडित जी ने बताया कि, 29 अक्टूबर, मंगलवार के दिन भाईदूज का पर्व मनाया जाएगा। इस प्रकार शनिवार से मंगलवार तक चार दिनों में आठ पर्व पड़ रहे हैं।