स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

भरपूर पानी जलस्रोत लबालब, अब सहेजने के इंतजाम जरूरी

Akram Khan

Publish: Aug 17, 2019 17:46 PM | Updated: Aug 17, 2019 17:46 PM

Ratlam

भरपूर पानी जलस्रोत लबालब, अब सहेजने के इंतजाम जरूरी

रतलाम। जावरा में बीते तीन दिनों से जारी तेज बारिश ने शहर की बारिश के आंकड़े को 40 इंच के करीब पहुंचा दिया है, जो कि औसत से अधिक है। बारिश से जलस्रोत लबालब हो चुके हैं। अब पानी सहेजने के इंतजाम पर कार्य करना जरूरी है। भारी बारिश के चलते शहर के आसपास तथा अंचलों में मौजुद सभी पुल व पुलियाओं पर पानी बह निकला जिससे आवागमन भी अवरुद्ध हुआ। शहर की कई निचली बस्तियों के साथ ही प्रमुख मार्गो पर जल भराव की स्थिति बनी रही। लगातार जारी बारिश के चलते कई कच्चे व पक्के मकानों के साथ ही शासकीय भवनों की छतों से पानी भी टपकने लगा। हालाकि शुक्रवार को मोमस खुला और धुप भी खिली, जिससे लोगों को थोड़ी राहत मिली।

अनुविभागीय अधिकारी कार्यालय से प्राप्त जानकारी अनुसार शुक्रवार की सुबह 8 बजे तक शहर में करीब 52 मिमी वर्षा दर्ज की गई इस वर्ष हुई भारी बारिश से क्षैत्र प्रमुख पेयजल स्त्रोत बहादुरपुर स्थित मलेनी बैराज भी लबालब भर गया है। वहीं क्षैत्र के आसपास मौजुद सभी तालाब भी पूरी तरह से भर गए है। तेज बारिश से गुरुवार को दोपहर तक पिलीयाखाल पूरी तरह से ऊफान पर था, जिससे हाथीखाना स्थित पुलिया पर से पानी बहकर निकला, इस दौरान कई दुपहिया वाहन चालक भी फंस गए। हालाकि पानी उतरने के बाद नगर पालिका ने पुलिया के दोनो और सुरक्षा इंतजाम किए।

पुलिया पर एक युवक को डूबने से बचाया
रिंगनोद से कलालिया मार्ग दो साल पूर्व लगभग 8 करोड़ की लागत से डामरीकरण डबल सड़क स्वीकृत हो चुका है। इसका कार्य कछुआ चाल से चल रहा है। कलालिया एवं ढोढर फंटे के बीच में बनी पुलिया पर लगभग 5 से 7 फीट पानी आने से लगभग 48 घंटे से आवागमन बंद रहा है। भारतीय जनता पार्टी किसान मोर्चा जिला उपाध्यक्ष चम्पालाल मोकडी ने बताया कि 48 घंटे हो गए। जिस कारण इधर से उधर निकलना मुश्किल हो गया है । शुक्रवार को कलालिया तरफ से एक आदमी पुलिया पर जा रहा था कि उसका पैर फिसल गया जिस कारण वह नीचे गिर गया। आगे जाकर निकला जो चौकीदार ने भी बचाने की बजाय उसे पीट दिया।