स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

अपने अधिकारियों पर भरोसा नहीं राज्य शिक्षा केंद्र को

kamal jadhav

Publish: Dec 07, 2019 11:39 AM | Updated: Dec 07, 2019 11:39 AM

Ratlam

अपने अधिकारियों पर भरोसा नहीं राज्य शिक्षा केंद्र को

रतलाम। राज्य शिक्षा केंद्र को स्कूलों में होने वाले निरीक्षणों को लेकर अपने ही अधिकारियों पर भरोसा नहीं है। यही वजह है कि दूसरे विभागों के अधिकारियों को भेजकर प्राथमिक व माध्यमिक विद्यालयों का निरीक्षण करवाया जा रहा है। स्कूलों में पढ़ाने वाले शिक्षकों की कमियां ढूंढने के लिए भेजे गए अधिकारी जिन्होंने पांच बिंदुओं पर स्कूलों की जांच की। स्कूलों में बच्चों का होमवर्क हो रहा है या नहीं, उन्हें तय समयसीमा में तय पाठ्यक्रम पढ़ाया या नहीं और इससे जुड़े अन्य बिंदुओं पर दूसरे विभागों के विभाग प्रमुखों को भेजकर जांच करवाई गई है। अब यह जांच सामने आने पर आगे की कार्रवाई तय की जाएगी।

[MORE_ADVERTISE1]

राज्य शिक्षा केंद्र ने प्रदेश के सभी प्राथमिक और माध्यमिक स्कूलों के शिक्षकों पर शिकंजा कसने के लिए नई योजना शुरू की है। स्कूलों में पढ़ाने वाले शिक्षकों द्वारा कॉपियों की जांच, बच्चों के होमवर्क को पूरा और शेड्युल के अनुसार करवाने और कमजोरी पकडऩे के लिए दूसरे विभागों के अधिकारियों की मदद ली जा रही है। जिले में भी इस योजना के अंतर्गत शुक्रवार को दूसरे विभागों के ६७ अधिकारियों को स्कूलों में भेजकर उन स्कूलों की हकीकत जांची गई। इसकी रिपोर्ट जिला शिक्षा केंद्र को कुछ दिन बाद मिलेगी लेकिन इससे प्राथमिक और माध्यमिक शिक्षकों और वहां के प्रधानाध्यापकों में हड़कंप मचा हुआ है।
प्रत्येक प्राथमिक व माध्यमिक स्कूल
विशेष अभियान के अंतर्गत जिसे के प्रत्येक प्राथमिक व माध्यमिक विद्यालय में न केवल विभाग वरन दूसरे विभागों के अधिकारी पहुंचकर वहां के बच्चों की तय बिंदुओं पर जांच कर रहे हैं। अधिकारियों को इन बिंदुओं से जुड़ा एक निरीक्षण प्रपत्र भी दिया गया है। वहां की जो स्थिति होगी उन्हें उस बिंदु पर सही या गलत का निशान लगाना होगा। इस रिपोर्ट के आधार पर संबंधित विभागों के शिक्षकों और वहां के प्रधानाध्यापकों पर कार्रवाई सुनिश्चित की जाएगी।

[MORE_ADVERTISE2]

ये हैं इनकी जांच के बिंदु
- बच्चों द्वारा प्रत्येक विषय की कॉपी बनाई गई है अथवा नहीं
- कितने पाठ पढ़ाए जा चुके हैं और कितने पढ़ाने थे
- सभी पाठ का अभ्यास कार्य कॉपी पर कराया गया है या नहीं।
- शिक्षकों द्वारा विद्यार्थियों को दिए गए अभ्यास की नियमित रूप से जांच की जा रही है या नहीं।
- विद्यार्थी की अभ्यास पुस्तिका में अभ्यास कार्य जांच के दौरान त्रुटि सुधार हेतु शिक्षक द्वारा गलतियों पर लाल स्याही से गोले लगाए या नहीं।
- विद्यार्थियों की अभ्यास कार्य पुस्तिका का शिक्षकों द्वारा तथा संस्था प्रमुख द्वारा समय-समय पर अवलोकन किया गया या नहीं।
----------
राशिके ने चलाया विशेष अभियान
राज्य शिक्षा केंद्र ने विशेष अभियान चलाया है जिसमें हर प्राथमिक व माध्यमिक विद्यालय का तय बिंदुओं पर निरीक्षण दूसरे विभागों के अधिकारियों के साथ ही जिले के बीएसी और जनशिक्षकों को सौंपा गया है। आज विशेष अभियान के अंतर्गत जिले में ६७ अधिकारियों ने जांच की।
सीआर टांक, एपीसी अकादमिक, जिला शिक्षा केंद्र

[MORE_ADVERTISE3]