स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

शहर के अंदर मवेशी तबेले, 177 नोटिस फिर भी जनता त्रस्त

Gourishankar Jodha

Publish: Dec 06, 2019 12:57 PM | Updated: Dec 06, 2019 12:57 PM

Ratlam

शहर के अंदर सड़कों पर बंधते मवेशी, 40 से अधिक तबेले, नोटिस के बाद नहीं आई कार्य में गति, मात्र ऊंकाला रोड शासकीय मंदिर की भूमि बने तबेले पर हुई थी कार्रवाई

रतलाम। शहर के अंदर मवेशियों के तबेले संचालित हो रहा है, नगर निगम ने १७७ लोगों को नोटिस थमाए लेकिन कार्रवाई के नाम पर अब तक कुछ नहीं। इस कारण शहर की जनता परेशान त्रस्त है। लगता है शहर में कोई काम पूरी तरह योजना बद्ध तरीके से होता ही नहीं है और जिसका परिणाम भी अधूरा ही मिलता है। ऐसा ही कुछ नगर निगम में इन दिनों हो रहा है, अब तो शहर की त्रस्त परेशान जनता भी यह कहती नजर आ रही है।

गत दिवस अवैध होर्डिंग्स हटाना अभियान की शुरुआत की अब तक अधूरा पड़ा, कोई अनुमति के लिए परेशान हो रहा है तो कहीं हटे ही नहीं है। दूसरी तरफ आवारा मवेशी पकडऩे का अभियान भी अधर में ही पड़ा है और स्वच्छता को लेकर सुबह से लेकर शाम तक दौड़ लगाई जा रही है, हर दिन लोगों को समझाइश दी जा रही है कि गंदगी और अतिक्रमण न करें, जुर्माना भी वसूला जा रहा है। स्वच्छता अभियान चले, शहर में साफ-सफाई होना चाहिए, लेकिन पहले के अधूरे पड़े काम भी तो पूरे हो, जिनसे जनता अब भी त्रस्त और परेशान है।

नोटिस दिए 15 दिन से अधिक हो गए
शहर के मध्य नगरीय सीमा में स्थापित 40 तबेला संचालकों सहित कुल १७७ नोटिस मवेशी पालकों को नगर निगम के स्वास्थ्य अधिकारी द्वारा थमाए गए थे। नोटिस दिए १५ दिन से अधिक हो गए, लेकिन अमला अब तक नोटिस देकर सुस्त बैठा हुआ है। गत दिवस मात्र ऊंकाला रोड स्थित शासकीय श्रीराम खाकचौक मंदिर की भूमि पर बरसों से संचालित हो रहे तबेला को हटाने की कार्रवाई के बाद जैसे पूरे शहर के तबेले हटा दिए गए हो, शासन और नगर निगम की कार्रवाई के दौरान भी तबेला संचालकों द्वारा विरोध जताया जा रहा था कि यहां कार्रवाई कर रहे हैं तो पूरे शहर के तबेले भी हटना चाहिए।

यहां है तबेले शहर में
एक बुजुर्ग तो यहां तक कह गए थे कि मैं कहां-कहां तबेले है लिस्ट बनाता हूं दूंगा, सब पर कार्रवाई समान रूप से होना चाहिए। यह बात भी सही है शहर रहवासी क्षेत्रों में कई मवेशी पालकों द्वारा सड़कों पर दिन रात गाय-भैंसे बांधकर अतिक्रमण कर रखा है। नयागांव राजगढ़, गौशाला रोड, अमृतसागर तालाब के समीप, मोमिनपुरा, मराठों का वास आदि नाले के समीप तो दर्जनों मवेशी सड़कों पर बंधे मिल जाएंगे। वहां तक नगर निगम के जिम्मेदार क्यों नहीं पहुंच पा रहे हैं वे जाने, यह बात अलग है कि नगर निगम की कार्रवाई के दौरान शहर के चौराहों और गली मोहल्ले के साथ ही व्यस्तमत बाजार से भी आवारा मवेशियों का खौफ जनता के लिए अब तक नहीं हुआ है।

इनका कहना
एलाउंस करवा रहे हैं, शीघ्र ही कार्रवाई की जाएगी। अभी अमला स्वच्छता के अन्तर्गत शहर की साफ-सफाई में व्यस्त है। मवेशी पालकों और तबेला संचालकों को नोटिस जारी किए थे, इसके बाद भी नहीं हटाए जाते हैं तो कानूनी कार्रवाई की जाएगी।
एपी सिंह, सहायक स्वास्थ्य अधिकारी, नगर निगम, रतलाम

[MORE_ADVERTISE1]