स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

गलत जानकारी देकर रचाई थी शादी, फिर दहेज के लिए किया प्रताडि़त

Chandraprakash Sharma

Publish: Sep 20, 2019 17:23 PM | Updated: Sep 20, 2019 17:23 PM

Ratlam

शादी के दो माह बाद ही दहेज के लिए घर से निकाल दिया

रतलाम। शादी की बात चलने के दौरान बड़े ससुर ने दूसरे की दुकान को अपनी बताकर लड़की के परिजनों को बरगलाया और शादी के बाद ससुराल पक्ष के लोग युवती को दहेज के लिए प्रताडि़त करने लगे और दो माह बाद ही घर से निकाल दिया। ससुराल पक्ष के लोगों के खिलाफ दहेज प्रताडऩा का प्रकरण दर्ज कराया।
शंकरगढ़ निवासी पिंकी उर्फ प्रीति ने माणकचौक पुलिस को बताया कि उसकी शादी सामूहिक विवाह सम्मेलन में रवि रामलाल कारोदिया (पाटीदार) से ९ मार्च २०१९ को हुई थी। शादी के पहले बड़े ससुर भवानीशंकर निवासी बजरंग दूध डेयरी धानमंडी वाले ने मुझे, मेरे बाई नितेश, पिता नारायण, माता कांताबाई, मासाजी बाबूलाल निवासी डेलनपुर एवं परिचित सचिन पिता नरसिंह माली के सामने रिश्ते की बात की थी। उन्होंने बताया था कि भगवती दूध भंडार की दुकान है ओमप्रकाश और पिंकी के होने वाले पति रवि दोनों की है और दोनों मिलकर संचालन करते हैं। शादी के बाद माता-पिता ने जो दहेज देना था वह दिया किंतु थोड़े दिन बाद ही रवि शराब पीकर आने लगा। जेठ, जेठानी, बड़ी सास आए दिन ताने मारते हुए दहेज में कुछ नहीं देने की बात कहने लगे। मुझे इसी दौरान पता चला कि पति रवि के नाम से कोई दुकान नहीं है और बड़े ससुर भवानीशंकर ने छल करके शादी करवाई। करीब चार माह पहले मुझे घर से निकाल दिया। भवानीशंकर पाटीदार, ओमप्रकाश पिता भगवतीलाल पाटीदार, गिरीजा पति भगवतीलाल पाटीदार, रमा पति ओमप्रकाश पाटीदार और रवि पिता रामलाल पाटीदार के खिलाफ पुलिस थाना माणकचौक ने प्रकरण दर्ज किया है।