स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

बारिश ने उजाड़े आशियाने, पुल व पुलियाएं क्षतिग्रस्त

Akram Khan

Publish: Sep 16, 2019 17:37 PM | Updated: Sep 17, 2019 12:22 PM

Ratlam

बारिश ने उजाड़े आशियाने, पुल व पुलियाएं क्षतिग्रस्त

रतलाम। जल प्रलय के रुप में बरसी बारिश ने क्षैत्र में चारो और कहर ढाया, तबाही मचाई, दो दिनों तक मचे जल प्रलय का पानी चारों और फैला हुआ था, जो रविवार को कम हुआ तो सरकारी अमला जलप्रलय से हुई नुकसानी के आंकलन में लगा। सरकारी आंकड़ों के मुताबीक आफत की बारिश ने कई गांवों को उजाड़ दिया। 700 से अधिक मकान क्षतिग्रस्त हो गए, 12 पुल ओर पुलियाएं टूट गई, 20 रोड़ खराब हो गए, जिसमें 3 जावरा सब डिवीजन तथा 17 पिपलोदा क्षेत्र के रोड़ शामिल है। विधानसभा क्षेत्र के 14 सरकारी भवन भी अतिवृष्टि से क्षतिग्रस्त हुए है। रविवार को भी प्रशासन का सर्वे कार्य जारी रहा।

एसडीएम एमएल आर्य ने बताया कि बारिश से हुई नुकसानी का सर्वे कार्य कर रिपोर्ट तैयार कर कलेक्टर को भेज दी गई है। क्षैत्र में नुकसानी का सर्वे कार्य सतत जारी रहेगा। रविवार को भी पूरा प्रशासनिक अमला अलग अलग ईलाकों में लगा रहा। बाढ़ से प्रभावित हुए क्षेत्रों में पहुंचकर राहत कार्य किया गया। एसडीएम के साथ ही अलग अलग क्षेत्रों में दिन भर जिला पंचायत सीईओं व जनपद पंचायत सीईओं के साथ तहसीलदार व राजस्व अमला नुकसानी के सर्वे कार्य में जुटा रहा। दूसरी ओर सबसे अधिक नुकसान गांव हनुमंतिया में हुआ है। जहां ट्रेक्टर, बाईक ओर अनाज के साथ किसान की नगद राशी भी पानी में बहकर चली गई। जिलाध्यक्ष सेवादल कांग्रेस के बालुदास बैरागी ने ग्राम हनुमंतिया के हालातों से प्रशासन को अवगत कराया।

पशु भी बह निकले
पिछले दो दिनों से जारी भारी बारिश से हनुमंतिया के पास खाल की दीवार टूटने से कांजी बैरागी के मकान में पानी समा गया। घर मेें रखी ऊटी की लहसून, गेहु के अलावा ट्रैक्टर बह गया। टै्रक्टर कुछ दूरी पर पलट गया ओर क्षतिग्रस्त हो गया। बैरागी ने बताया घर में नगदी 60 हजार रूपये रखे थे वे भी पानी में समा गए। हनुमंतिया के नई आबादी मेें भी काफी नुकसान मकानों को हुआ है। गांव में करीब 70 मकान पानी की भेट चढ गए। ई कक्ष में पंचायत के कम्प्यूटर व अन्य संस्थान भी बह गए। खाल का पानी गांव में घूसने के चलते दो बाईक, दो भैंस व गाय भी बह गई। कंट्रोल की दुकान में रखा अनाज भी भीग गया। सेवादल कांग्रेस जिलाध्यक्ष बालुदास बैरागी हरियाखेड़ा ने बताया हनुमंतिया गांव में तबाही मची थी ओर प्रशासन को इसकी भनक तक नही थी।