स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

नहीं हुआ इंजन का परीक्षण: सीपीडी पहुंचे मंदसौर, अंतिम समय में ट्रायल स्थगित

Yggyadutt Parale

Publish: Oct 22, 2019 17:28 PM | Updated: Oct 22, 2019 17:28 PM

Ratlam

नहीं हुआ इंजन का परीक्षण: सीपीडी पहुंचे मंदसौर, अंतिम समय में ट्रायल स्थगित

रतलाम। रेल मंडल में मंदसौर से नीमच तक बिजली इंजन का परीक्षण ट्रैक पर सोमवार को अंतिम समय में स्थगित हो गया। इसके लिए अहमदाबाद से मुख्य निर्माण निदेशक एलएल मीणा मंदसौर पहुंच भी गए थे, लेकिन २५केवी पर बिजली चार्ज समय पर नहीं होने की वजह से इसको स्थगित कर दिया गया। अब यह कार्य दिवाली बाद किया जा सकता है।

मंडल के वरिष्ठ अधिकारियों के अनुसार शनिवार शाम को विद्युतिकरण कार्य मंदसौर से नीमच तक पूरा हो गया। इसके बाद रेल इलेक्ट्रिफिकेशन अहमदाबाद के मुख्य निर्माण निदेशक मीणा पहले जावद व बाद में मंदसौर पहुंचे। मंदसौर में जो बिजली इंजन को खड़ा किया गया था, उसको खड़ा तो रखा गया, लेकिन परीक्षण कार्य नहीं किया गया।

जावरा में सब स्टेशन तैयार नहीं

रेलवे बिजली इंजन से ट्रेन फिलहाल कई कारण से नहीं चला पा रहा है। असल में बिजली इंजन को विद्युत देने के लिए जो सतत बिजली चाहिए उसके लिए जावरा में बन रहे सब स्टेशन के कार्य को पूरा नहीं किया जा सका है। इसके अलावा मंडल मुख्यालय से जो २५केवी की बिजली चाहिए उसके बजाए फिलहाल लाइन को २.२ केपी पर चार्ज किया हुआ है। इसके चलते मुख्य निर्माण निदेशक मंदसौर पहुंचने के बाद भगवान पशुपतिनाथ के दर्शन को चले गए।

अब दिवाली बाद

इन सब के बीच पश्चिम रेलवे के मुख्य संरक्षा आयुक्त का मंडल में नीमच से मंदसौर तक होने वाला निरीक्षण कार्य अब दिवाली के बाद होगा। मंडल से सीआरएस को आमंत्रण चला गया था। पूर्व में २१ अक्टूबर निरीक्षण कार्य के लिए तय की गई थी, लेकिन अब उसको स्थगित करके दिवाली बाद की तारीख तय की जाएगी। सीआरएस मंदसौर से नीमच तक डीजल इंजन से लाइन का निरीक्षण करेंगे व मंदसौर-जावरा तक ११० की गति से ट्रेन को बिजली इंजन से चलाकर लाएंगे।

जीएम भी आएंगे निरीक्षण को

इन सब के बीच पश्चिम रेलवे महाप्रबंधक एके गुप्ता आगामी नवंबर माह में मंडल के चित्तौडग़ढ़ से रतलाम तक सेक्शन का निरीक्षण करेंगे। इसके लिए अधिकृत कार्यक्रम तो नहीं आया है, लेकिन स्थानीय अधिकारियों ने इसकी पुष्टी की है। अधिकारियों के अनुसार चित्तौडग़ढ़ से रतलाम तक जीएम विंडो निरीक्षण से लेकर स्पेशल ट्रेन से विद्युतिकरण कार्य को देखने आएंगे।