स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

Ojas youth club/बच्चों को गलत रास्ते पर जाने से बचाएगा ओजस यूथ

kamal jadhav

Publish: Oct 23, 2019 11:18 AM | Updated: Oct 23, 2019 11:46 AM

Ratlam

बच्चों को गलत रास्ते पर जाने से बचाएगा ओजस यूथ

रतलाम। हाईस्कूल और हायर सेकंडरी स्कूलों में पढऩे वाले १४ से १८ साल के विद्यार्थियों में इस समय गलत रास्ते पर जाने और गलत संगत में पड़कर विधि विरुद्ध कदम उठाने की घटनाएं लगातार बढ़ती जा रही है। इन घटनाओं पर अंकुश लगाने के लिए लोक शिक्षण संचालनालय ने कवायद शुरू कर दी है। हर स्कूल में ओजस यूथ क्लब गठिथ करके इसके माध्यम से बच्चों को शाला समय के बाद भी व्यस्त रखकर उन्हें रुचिकर विषयों की तरफ मोड़़कर और अच्छी शिक्षा से जोडऩे की कार्ययोजना तैयार की गई है। यह यूथ क्लब इन बच्चों को उनकी रुचि के अनुसार क्षेत्र में मार्गदर्शन करेगा जिससे उनका बौद्धिक और शारीरिक विकास ठीक दिशा में किया जा सके।

शिक्षक बनाए जाएंगे प्रभारी
स्कूलों में गठित किए जाने वाले ओजस यूथ क्लब का मुख्य उ²ेश्य बच्चों को सही रास्ता चुनने में मदद करने का रहेगा। हर स्कूल का एक-एक शिक्षक इसका प्रभारी बनाया जाएगा और उसकी ही जिम्मेदारी होगी कि वह बच्चों के नकारात्मक विचारों प्रभावों को कम करने के लिए अपनी तरफ से सुझाव और व्यवस्था करे। उनकी रुचि के आयोजन के साथ ही विषय के अनुसार उनकी काउंसलिंग करना भी इन्हीं के जिम्मे होगा।

यह रहेगा ओजस यूथ क्लब का उ²ेश्य
- विद्यार्थियों को ऐसे अवसर प्रदान करना जिससे वे खाली समय में स्वस्थ और सकारात्मक कार्यों में व्यस्त रह सके और अपनी भावात्मक, बौद्धिक और शारीरिक पहचान की खोज बेहतर ढंग से कर सके।
- विद्यार्थियों को स्कूल के समय से पहले और बाद में सार्थक और उत्पादक गतिविधियों में संलग्न करना।
- स्कूल के बाद विद्यार्थियों को मेटरिंग करना, उन्हें गलत रास्तों पर चलने से रोका जा सके और उन्हें स्वस्थ मार्गदर्शन, सामाजिक समर्थन मिल सके।

- विशिष्ठ गतिविधियों का आयोजन किया जाए ताकि विद्यार्थियों को उनकी रुचि के क्षेत्र में अपने कौशल को विकसित करने का अवसर मिल सके।
- विद्यार्थियों के लिए एक्स्ट्रा करीकुलर गतिविधियों के विकल्प प्रस्तुत करना।
- ये गतिविधियां सप्ताह में दो दिन यानि बुधवार और शनिवार को आयोजित की जाएगी। आवश्यकतानुसार विद्यार्थियों की सहमति से रविवार का दिवस भी यह आयोजन किया जा सकता है।
- हर दिन की गतिविधि का समय १.३० मिनट रहेगा और यदि स्कूल और बच्चे चाहे तो इसका समय बढ़ाया जा सकता है। खास बात यह है कि इस क्लब की गतिविधियां स्कूल समय से पहले या स्कूल समय के बाद ही आयोजित होंगी।