स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

विधानसभा की स्थानीय निकाय एवं पंचायत राज लेखा समिति ने शहर के साथ ग्रामीण क्षेत्रों में किया दौरा

Sourabh Pathak

Publish: Oct 21, 2019 22:01 PM | Updated: Oct 21, 2019 22:01 PM

Ratlam

विकास कार्योंं के लिए दी गई राशि का करे सदुपयोग

रतलाम। मध्यप्रदेश विधानसभा की स्थानीय निकाय एवं पंचायत राज लेखा समिति सोमवार को रतलाम पहुंची। यहां शहर के साथ ग्रामीण क्षेत्रों का दौरा कर आमजन से फीडबैक भी लिया। रतलाम में ग्रामीण निकायों व नगरीय निकायों में लंबित ऑडिट कंडिकाओं के निराकरण की समीक्षा कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में आयोजित बैठक में की। समिति में मुख्य रूप से सभापति बिसाहूलाल सिंह व सदस्यगण दिव्यराज सिंह, देवेंद्र पटेल, राजेंद्र पांडे, केदारनाथ शुक्ला सहित अधिकारीगण शामिल थे।

समिति के सभापति बिसाहूलालसिंह ने निर्देश दिए कि शासन द्वारा विकास कार्यों के लिए जारी की गई राशि का सदुपयोग किया जाए, नहीं तो जिम्मेदार अधिकारियों के खिलाफ कार्यवाही की जाएगी। वहीं कार्यों को समय सीमा में गुणवत्ता के साथ पूरा करने की बात कही। समिति द्वारा रतलाम शहर में भ्रमण कर सीवरेज कार्य का निरीक्षण किया गया। समिति सदस्यों ने मोहन नगर व अन्य स्थानों पर सीवरेज कार्य देखा और शेष बचे काम को तेजी से पूरा के निर्देश दिए। इस दौरान शहर विधायक चेतन्य कश्यप, राजेंद्र पांडे, दिलीप मकवाना भी साथ थे।

सिटी बस का उठा मुद्दा
बैठक में शहर में सिटी बस संचालन के संबंध में भी एक विस्तृत प्रतिवेदन देने के निर्देश निगमायुक्त को दिए। नगरीय निकायों में लंबित ऑडिट कंडिकाओ की समीक्षा के दौरान रतलाम नगर निगम के अपूर्ण कार्यों एवं सीवरेज कार्य की समीक्षा में समिति सदस्य केदार शुक्ला ने कहा कि नगर निगम के कार्यों के समय सीमा में निपटान एवं सीवरेज के समय सीमा में निपटान के लिए विभाग के प्रमुख सचिव से चर्चा की जाएगी।

कार्य व उद्देश्य की दी जानकारी
बैठक में सभापति ने स्थानीय निकाय एवं पंचायत राज लेखा समिति के कार्य एवं उद्देश्यों की जानकारी दी। समिति द्वारा ग्राम हसनपालिया में लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग की नल-जल योजना में टूट-फूट, लिकेजिंग, वाल्व नहीं लगने जैसी कई समस्याएं निरीक्षण में सामने आने की जानकारी लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के कार्यपालन यंत्री को दी और निर्देशित किया कि वह स्वयं मौका मुआयना कर, जांच करते हुए समिति को स्पष्ट प्रतिवेदन देवें कि योजना में पाइप व अन्य सामग्री गुणवत्ता वाली थी या नहीं। इस संबंध में दोषी पाए जाने पर ठेकेदार के खिलाफ कार्रवाई की जाए, नहीं तो ईई के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

किए गए कामों की मांगी जानकारी
समिति ने जनपद पंचायतों में स्थानीय निधि संपरीक्षा विभाग द्वारा की जाने वाली ऑडिट कई वर्षों से नहीं होने पर असंतोष जताया और तत्काल इस दिशा में कार्य करने के निर्देश दिए। समीक्षा में जनपदों में अग्रिम राशि के समायोजन की जानकारी प्राप्त कर प्रतिवेदन देने को कहा। सभापति ने निर्देशित किया कि जनपद पंचायतों में विगत वर्षों में किए गए कार्यों के लिए जारी की गई राशि कार्यों की पूर्णता, अपूर्णता, उपयोगिता प्रमाण पत्र आदि की विस्तृत जानकारी प्रेषित करें। बैठक में कलेक्टर रुचिका चौहान, जिला पंचायत सीईओ संदीप केरकेट्टा सहित भोपाल से आए अधिकारीगण एवं जिले के जनपद पंचायतों एवं नगर पालिकाओं के अधिकारी उपस्थित थे।

लोगों ने की शिकायत
जिले के ग्रामीण क्षेत्रों समिति के सदस्यों ने यहां विकास योजनाओं कार्यक्रमों के क्रियान्वयन का जायजा लिया। स्थानीय निकाय एवं पंचायत राज समिति ने पिपलोदा विकासखंड के ग्राम हसनपालिया में ग्रामीणों से चर्चा कर फ ीडबैक लिया। ग्राम पंचायत द्वारा किए गए कार्यों की जानकारी प्राप्त की। ग्रामीणों ने स्टॉप डेम पर गेट नहीं लगाने, नल-जल योजना में खराब सामग्री का उपयोग करने, तालाब निर्माण में अनियमितता की शिकायत की। समिति सदस्यों ने पंचायत सचिव के प्रति नाराजगी व्यक्त करते हुए सीईओ जिला पंचायत को निर्देशित किया कि गांव में किए गए विकास कार्यों का भौतिक एवं वित्तीय सत्यापन किया जाए।

ग्रामीणों से की चर्चा
समिति ने गांव का स्टॉपडेम व स्वास्थ्य केंद्र देखा। इसके बाद जनपद पंचायत जावरा के ग्राम भैसाना में ग्रामीणों से चर्चा की। ग्रामीणों ने शिकायत में बताया कि ग्राम पंचायत द्वारा वसूल की जाने वाले करों की रसीद नहीं दी जाती है। स्थानीय निकाय पंचायत राज समिति ग्राम रिछाचांदा भी पहुंची। यहां ग्रामीणों से चर्चा कर विकास कार्यों का जायजा लिया। वहीं जो भी सुझाव प्राप्त हो रहे हैं, उनको शासन के समक्ष प्रस्तुत करने की बात कही। समिति के साथ जावरा एसडीएम राहुल धोटे व जनपद पिपलोदा सीईओ अल्फि या खान, जावरा जनपद सीईओ आरबीएस दंडोतिया भी उपस्थित थे।